NPS vs PPF – कौनसा रिटायरमेंट प्लान बेस्ट हैं?

जब भी हम अपने पोस्ट रिटायरमेंट की ज़िंदगी के बारे में सोचते हैं तो सबसे पहले हमारे मन में Retirement Planning का खयाल आता हैं।रिटायरमेंट के बाद की ज़िंदगी हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण होती है क्योंकि उस समय हम किसी के ऊपर निर्भर ना रहकर आत्मनिर्भर रहना चाहते हैं। आज के समय में हमें बढ़ती जीवन प्रत्याशा और मुद्रास्फीति के कारण हमारी Retirement Planning को ओर बेहतर तरीके से करना पड़ता हैं।

NPS vs PPF


वर्तमान समय में NPS और PPF बेहतरीन रिटायरमेंट सेविंग प्लान्स में से एक हैं। परन्तु क्या आप तय कर पाएंगे की आपके लिए कौनसी रिटायरमेंट सेविंग स्कीम बेस्ट हैं?

NPS vs PPF में से एक चुनना थोड़ा कठिन काम हो सकता हैं। लेकिन आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से आपको PPF vs NPS में अंतर को बिलकुल आसान भाषा में समझायेंगे जिससे आप ये तय कर पाएंगे की आप को किस प्लान के साथ जाना चाहिए।

NPS vs PPF के बीच अन्तर – NPS vs PPF Difference

NPS vs PPF
अन्तर का आधार NPS PPF
पात्रता (Eligibility) 18-65 की उम्र का कोई भी व्यक्ति – भारतीय नागरिक या NRI कोई भी भारतीय नागरिक/ HUF पात्र नहीं
न्यूनतम निवेश ₹500 वार्षिक ₹500 वार्षिक
अधिकतम निवेश कोई लिमिट नहीं ₹ 1,50,000
लॉक-इन-पीरियड 60 वर्ष की उम्र तक 15 वर्ष
रिटर्न्स की निर्भरता मार्केट के प्रदर्शन पर निर्भर तिमाही के आधार पर निर्धारित Guaranteed  रिटर्न्स
Expected Returns 8-10% 7.1% (as on Dec 2020)
क्या आप निर्धारित कर सकते हैं की आपका पैसा कहाँ लगेगा? हां (Equity, Debt, Govt Bonds, AI) नहीं
टैक्स बेनिफिट्स Exempt, Exempt, Exempt (Annuity करयोग्य होती हैं) Exempt, Exempt, Exempt
निवेश की अवधि बढाना (Extension) 10 वर्ष का Extension बस 1 बार 5 वर्ष के ब्लॉक में कितनी भी बार बढ़ाया जा सकता हैं
लोन की सुविधा उपलब्ध नहीं तीसरे से छठे वर्ष के बीच उपलब्ध
पेंशन सुविधा 60 वर्ष की उम्र के पश्चात उपलब्ध उपलब्ध नहीं
Expenses Ratio 0.01% 0
रिस्क Low Risk No  Risk
नियोक्ता कंट्रीब्यूशन (Employer Contribution) हो सकता हैं नहीं
क्या Debt के रूप में कोर्ट द्वारा attach किया जा सकता हैं? हां नहीं

इस टेबल से आपको NPS vs PPF difference का अंदाजा हो गया होगा।

आप NPS और PPF Schmes को विस्तार से समझने के लिए हमारी ये पोस्ट पढ़ सकते हैं –

NPS vs PPF के बीच अन्तर का विस्तार से विश्लेषण – NPS vs PPF difference

1 – Risk

NPS में जमा पैसा मुख्यतः चार प्रकार की ऐसेट क्लास में निवेश किया जाता है-

  1. इक्विटी
  2. गवर्नमेंट बॉन्ड्स
  3. कॉरपोरेट बॉन्ड्स
  4. अल्टरनेटिव इन्वेस्टमेंट

इन सभी का रिटर्न मार्केट के हिसाब से बदलता रहता है। जिसमें रिटर्न्स की हमेशा अनिश्चितता बनी रहती है। फिर भी NPS लंबे समय में आसानी से 10 परसेंट के करीब रिटर्न निकाल सकता है। आपके पैसे को सही जगह निवेश करने के लिए फण्ड मैनेजर्स होते हैं।

सेफ्टी के हिसाब से भी NPS में निवेशक का जमा पैसा पूर्ण रूप से सुरक्षित है जो कि PFRDA द्वारा संचालित किया जाता है।

वहीँ PPF में रिटर्न की कोई अनिश्चितता नहीं रहती हैं। PPF में एक फिक्स दर से ब्याज मिलता है जो की भारत सरकार द्वारा प्रत्येक तिमाही पर घोषित किया जाता है।

अगर आपको बिल्कुल भी रिस्क नहीं चाहिए तो आप PPF Scheme को ले सकते हैं। अगर आप थोड़ा बहुत risk लेकर अच्छा रिटर्न कमाने की सोच रहे हैं तो आपको NPS Scheme की तरफ जाना चाहिए।

2 – Returns

रिटर्न की बात की जाए PPF का रिटर्न लगभग 8% के आसपास रहता है।

NPS में इक्विटी निवेश के कारण रिटर्न्स 8 से 10% या थोड़े ज्यादा भी हो सकते हैं। इसका Return आपके एसेट एलोकेशन पर निर्भर करता हैं। यहां यह बात ध्यान देने योग्य है कि NPS में अधिकतम 75% ही इक्विटी में निवेश किया जा सकता हैं।

अगर आप Returns के साथ कोई समझौता नहीं करना चाहते तो आपको NPS का चुनाव करना चाहिए। नहीं तो आप PPF का चुनाव कर सकते हैं।

3 – लिक्विडिटी और लॉक-इन-पीरियड

PPF में आपका पैसा 15 वर्ष के लिए लॉक-इन रहता हैं। अगर आपको बीच में कुछ धनराशि की आवश्यकता पड़ जाती है तो आप 7 वें वर्ष के प्रारम्भ से कुछ राशि निकलवा सकते हैं। अधिकतम निकाली जाने वाली राशि इन दोनों में जो भी कम होगा वह होगी –

  • वर्तमान वर्ष से पिछले वित्तीय वर्ष (F/Y) के अंत तक PPF अकाउंट का 50% बैलेंस, या
  • चौथे वित्तीय वर्ष के अंत में मौजदू PPF बैलेंस का 50%.

NPS में maturity निवेशक की 60 वर्ष की उम्र में ही होती हैं। NPS में partial withdrawal अधिकतम 3 बार ही किया जा सकता है। समयपूर्व निकासी आप स्वयं के निवेश के 25% तक ही करवा सकते हैं। लेकिन आपको समय पूर्व पैसा निकलवाने के लिए अपना NPS अकाउंट खुलवाए 3 वर्ष पूरे होने चाहिए।

4 – Maturity या Withdrawal

PPF अकाउंट में 15 वर्ष की समाप्ति पर आप अपना पूरा जमा पैसा एक साथ में cash या बैंक अकाउंट में ट्रांसफर करवा सकते हैं।

लेकिन NPS में  ऐसा नहीं हैं। NPS में आप अधिकतम 60% राशि ही निकलवा सकते हैं। बाकी 40% का आपको Annuity plan ख़रीदना होता हैं। इसी एन्युटी प्लान से आपकी मासिक Pension चालू होती हैं।

5 – रिटायरमेंट फोकस

रिटायरमेंट फण्ड की बात की जाये तो NPS मुख्य रूप से एक रिटायरमेंट प्लानिंग से सम्बंधित ही स्कीम हैं। यहाँ तक की NPS में 60 वर्ष की आयु से एक फिक्स मासिक पेंशन भी प्राप्त होती हैं।

लेकिन PPF का उद्देश्य कोई रिटायरमेंट लाभ देना नहीं हैं।

जैसे की किसी 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे का PPF अकाउंट खुलवा लिया जाये। इस स्थिति में उसका PPF अकाउंट मात्र 25 वर्ष से भी कम आयु में परिपक्व हो जायेगा। इससे रिटायरमेंट प्लानिंग का तो सवाल ही नहीं उठता।

इसलिए अगर आपको मुख्य रूप से रिटायरमेंट फंड जुटाना है साथ में पेंशन भी प्राप्त करनी है तो आपको NPS स्कीम का ही चयन करना चाहिए।

nps vs ppf which is better

NPS vs PPF – NPS and PPF which is better

अब यहां निष्कर्ष के रूप में अगर आपको NPS और PPF में से किसी एक स्कीम को चुनना हो तो आप किसे चुनेंगे?

इसमें मेरा तर्क यह है कि अगर आपको मुख्य रूप से रिटायरमेंट प्लानिंग के तहत फंड इकट्ठा करना है तो आपको NPS स्कीम का चयन करना चाहिए। NPS स्कीम का चयन कभी भी आप टैक्स प्लानिंग या बेनिफिट्स के लिए ना करें। क्योंकि NPS के अलावा कई अन्य स्कीम है जो आपको कम लॉक-इन-पीरियड में टैक्स बेनिफिट दे देगी जिनमें ELSS, PPF, एफडी प्रमुख है।

लेकिन आप का मुख्य उद्देश्य बिना कोई जोखिम के कम समय में अच्छा रिटर्न कमाना है तो आपको PPF स्कीम की तरफ रुख करना चाहिए।  PPF scheme में जीरो रिस्क रहती है तथा PPF Account 15 साल में ही mature हो जाता है। इसमें आपको 60 वर्ष तक की उम्र का इंतजार करने की बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं है।

लेकिन आप फिर भी दोनों स्कीम्स में से एक का चयन नहीं कर पा रहे है तो आप NPS और PPF दोनों स्कीम्स में एक साथ निवेश कर सकते हैं। इससे आपके पोर्टफोलियो में विविधता आएगी और आप दोनों स्कीम्स की सुविधाओं का फायदा भी उठा पाएंगे।  

NPS and PPF Returns

रिटर्न्स के हिसाब से भी NPS Scheme, PPF के मुकाबले बढ़िया रिटर्न्स देती हैं। चलिए इसे एक उदाहरण की सहायता से समझते हैं।

अजय की स्कीम (उम्र 25 वर्ष) विजय की स्कीम (उम्र 25 वर्ष)
NPS  PPF 
Contribution per month ₹ 12,500 ₹ 12,500
Investment in 35 years ₹ 52.5 लाख ₹ 52.5 लाख
Rate of Return (assumed) 10% 8%
Maturity Amount ₹ 4.8 करोड़ ₹ 2.9 करोड़

यहाँ हमने माना है की विजय ने PPF अकाउंट को 60 वर्ष तक बढ़ा लिया हैं। आप यहाँ देख सकते हैं की NPS और PPF की maturity अमाउंट में लगभग 2 करोड़ का अंतर हैं। अब आप स्वयं तय कर लीजिये की आपको किस सेविंग स्कीम में निवेश करना हैं।

NPS और PPF में समानताएं

NPS और PPF में कई असमानताएं होने के साथ-साथ में कुछ समानताएं भी हैं।

Parameters  NPS  PPF 
टैक्स बेनिफिट्स
रिटायरमेंट सेविंग
लम्बी अवधि का लॉक-इन-पीरियड
मुनाफे पर कोई टैक्स नहीं
Maturity अमाउंट पर कोई टैक्स नहीं

निष्कर्ष

दोस्तों मैंने यहां सभी अलग-अलग परिस्थितियों में समझाया है कि आपके लिए कौन सा प्लान बेहतर है? आप अपनी आवश्यकता के अनुसार NPS और PPF में से एक स्कीम चुन सकते हैं।

आशा करते हैं कि आपको NPS vs PPF in Hindi समझ में आया होगा। अगर आपका NPS and PPF difference से संबंधित कोई भी सवाल है तो हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते हैं। अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Leave a Reply