Share Market Tips for Beginners – स्टॉक मार्केट के गोल्डन रूल्स

स्टॉक मार्केट के द्वारा हम सब पैसा कमाना चाहते हैं लेकिन 99% लोग स्टॉक मार्केट में फेल हो जाते हैं। फेल होने का मतलब यह है कि वे पैसा तो कुछ कमा नहीं पाते और साथ में जो पैसा हैं वह भी गंवा देते हैं। ऐसा नहीं है कि आप अकेले स्टॉक मार्केट में गलतियां करने वाले हैं।  अधिकांश रिटेल इन्वेस्टर अपनी गलतियों के कारण ही स्टॉक मार्केट में अपना पैसा गंवाते हैं।

हम एक नौकरी पाने के लिए पहले 12 साल स्कूल में और फिर पांच से छह साल कॉलेज में बिताते हैं। लेकिन स्टॉक मार्केट में हमें सीधे बिना किसी तैयारी के आ जाते हैं और बहुत पैसा बनाकर अमीर बनना चाहते हैं।

आज मैं आपको ऐसी Share Market Tips बताऊंगा जो न केवल आपको नुकसान से बचाएंगे बल्कि इन्हें फॉलो करके आप स्टॉक मार्केट से पैसा भी कमा पाएंगे।

Exited……???

यदि आप एक नए निवेशक हैं और Share Market में निवेश करने की सोच रहे हैं तो यह Share Market Tips for beginners आपके बहुत काम आने वाली है जबकि आप पुराने इन्वेस्टर हैं तो भी ये आपको स्टॉक मार्केट में आगे गलतियां करने से बचाएगा।

Share Market Tips in Hindi (Stock Market Golden Rules)

1. इंट्राडे, शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग और F & O में ट्रेडिंग करने से बचें

मेरी यह बात कई लोगों को हजम नहीं होगी। क्योंकि उन्हें लगता हैं की ट्रेडिंग से तो कम समय में जबरदस्त पैसा बनता हैं। लेकिन यह बात सच है कि किसी भी रिटेल इन्वेस्टर के लिए इंट्राडे, शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग किसी gambling से कम नहीं है।

नए निवेशक बिना कुछ सोचे-समझे शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग करने लग जाते हैं और अपना पैसा गंवा देते हैं।

स्टॉक मार्केट में किसी भी अच्छे या बुरे स्टॉक के शॉर्ट टर्म प्राइस का अनुमान लगाना बहुत ही कठिन काम हैं। आपने किसी से सुना है कि वह ट्रेडिंग से अमीर हुए हैं ?

शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग मुख्यतः Hedging के लिए और Institutional investors के लिए ही बनी हैं। एक रिटेल इन्वेस्टर के लिए शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग और इंट्राडे से लगातार पैसा कमाना बहुत ही ज्यादा कठिन काम हैं।

शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग से केवल आपका ब्रोकर, सरकार और स्टॉक एक्सचेंज ही अमीर हो सकता है एक रिटेल निवेशक नहीं।

इसलिए Stock Market Tips का पहला रूल यही कहता हैं की “पैसा कमाने से ज्यादा महत्वपूर्ण हैं अपने पैसे को सुरक्षित रखना”। 

2. हमेशा Long Term के लिए निवेश करें

मैंने आपको पहली ही Share Market Tip में बताया हैं की रिटेल इन्वेस्टर को इंट्राडे या शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग नहीं करनी चाहिए। इसका मतलब है कि आप हमेशा long-term के लिए निवेश करें।

अब सवाल उठता हैं की लॉन्ग टर्म निवेश कितने समय के लिए होना चाहिए। विश्व के महानतम निवेशक वॉरेन बफे ने कहा है “My Favorite holding period is forever.”

इसका मतलब हैं की वॉरेन बफे अच्छे खरीद कर हमेशा के लिए रखना चाहते हैं। वॉरेन बफे ने 50 साल में 22% के CAGR रिटर्न से अपनी इतनी बड़ी वेल्थ बनाई है। आज वो दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों में से एक हैं।

अगर आपने सन 2000 में MRF में एक लाख निवेश किये होते तो आज उनकी वैल्यू लगभग 31 लाख से ज्यादा होती।

लंबे समय में अच्छे स्टोक्स आपको बहुत ही अच्छे रिटर्न बना कर देते हैं। इसलिए पैसा बनाने के लिए निवेशक बने ट्रेडर नहीं।

3. फ्री टिप्स और Paid टिप्स से बचे

फ्री टिप्स आपको कोई भी दे सकता हैं जैसे आपका दोस्त, आपका कोई रिश्तेदार। मैंने कई ऐसे निवेशकों को देखा है जो स्टॉक मार्केट में बस टिप के आधार पर शेयर ख़रीदते हैं।

टिप्स आपके पैसों के लिए बहुत ही ज्यादा घातक हो सकती हैं। यह टिप्स आपके संपूर्ण पैसे खत्म करने के लिए पर्याप्त होती है। आप बिना किसी कंपनी के बारे में जाने जैसे की वो क्या बिज़नेस करती हैं, उसके ऊपर कितना कर्जा हैं, उसका प्रॉफिट कितना हैं, कैसे आप अपना पैसा लगा सकते हैं।

Paid Tips

आपको कई ऑनलाइन सर्विस प्रोवाइडर प्लेटफार्म मिल जाएंगे जहां पर आपको सब्सक्रिप्शन के आधार पर कॉल दी जाती है। वे दावा करते हैं कि वह हर महीना आपके लगाए हुए पैसों पर 30 से 50% का रिटर्न बनाकर देंगे।

अब मैं आपसे एक बात पूछना चाहूंगा कि अगर ऐसा है तो वह स्वयं ट्रेडिंग क्यों नहीं करते? उन्हें क्या आवश्यकता हैं ऐसे कॉल देकर पैसे कमाने की? जबकि वे अगर खुद ट्रेड करेंगे तो उन्हें ज्यादा प्रॉफिट होगा।

अगर इनकी कॉल्स के आधार पर ही सब कुछ होने लगे तो सभी व्यक्ति इनका सब्सक्रिप्शन लेकर स्टॉक मार्केट से बहुत से पैसे कमा लेंगे। लेकिन वास्तविकता में ऐसा होता नहीं हैं।

मैंने आज तक भी ऐसा कोई व्यक्ति नहीं देखा जिसने कॉल्स के आधार पर बहुत पैसा बना लिया हो। हो सकता है की इसमें आपको शॉर्ट टर्म में फायदा हो परंतु धीरे-धीरे ये आपको नुकसान की ओर ही ले जायेगा।

4. स्टॉक ब्रोकर की एडवाइस से बचें

आपका स्टॉक ब्रोकर आपसे उम्मीद करता हैं कि आप लगातार शेयर बाय ओर सेल करते रहें जिससे की उसकी ब्रोकरेज ज्यादा से ज्यादा बने।

इसलिए आपका शेयर ब्रोकर आपको नियमित रूप से मोबाइल और ईमेल पर फ्री कॉल्स भेजता रहता हैं। भाग्यवश स्टॉक ब्रोकर की कॉल्स कुछ समय के लिए आपके लिए फायदेमंद हो सकती हैं। लेकिन अंत में आपको ट्रैप के अलावा कुछ हांसिल नहीं होता।

इस प्रकार की कॉल्स में 10 में से 7 कॉल में आपको फायदा हो सकता हैं परन्तु बाकी तीन कॉल में आपको वह नुकसान होगा जिससे कि आपका पूरा प्रॉफिट नुकसान में बदल जाएगा।

stock market tips in hindi

5. उधार के पैसों से या इमरजेंसी फंड से कभी ट्रेडिंग नहीं करें

कई निवेशकों को स्टॉक मार्केट में थोड़ा बहुत फायदा हो जाने पर वे बहुत ज्यादा लालची बन जाते हैं। वे ज्यादा कैपिटल लगाकर अपने प्रोफिट को अधिकतम करना चाहते हैं। इसलिए वे बैंक से पैसे उधार लेकर, किसी से ब्याज पर पैसे उधार लेकर या अपने इमरजेंसी फंड को निकाल कर स्टॉक मार्केट में डाल देते हैं।

अगर इस प्रकार के फंड्स से लिए गए शेयरों के दामों में किसी कारणवश गिरावट आ जाए तो इस स्थिति में हम अच्छे स्टॉक्स को भी होल्ड नहीं कर पाएंगे। क्योंकि लगाया हुआ पैसा हमारा नहीं है। ऐसा करने से हमको बहुत ही ज्यादा नुकसान हो सकता हैं क्योंकि हमको शेयर्स को कम दाम पर ही बेचकर ऋण वापस चुकाना होता हैं।

इस प्रकार ऋण के पैसो से, मार्जिन मनी से कभी भी शेयर नहीं ख़रीदने चाहिए। इसमें बहुत ही ज्यादा रिस्क होता है। हमेशा केवल उन्हीं पैसों को इन्वेस्ट करें जिनकी हमें निकट भविष्य में बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं है।

6. चार प्रकार के शेयर कभीं नहीं ख़रीदे

Share Market investment Tips के इस रूल के अनुसार इन चार प्रकार के शेयर में निवेश करने से आपको बचना चाहिए।

(i) High Debt Companies

ऐसी कंपनी जिसमें कर्जा बहुत ही ज्यादा है उनमें आपको निवेश नहीं करना चाहिए। अब यह कैसे पता चलेगा कि किसी कंपनी में बहुत ही ज्यादा डेब्ट है।

इसके लिए आपको Debt to Equity रेश्यो देखना चाहिए। यदि Debt to Equity रेशों एक (1) से ज्यादा है तो आपको उस कंपनी के बारे में आगे रिसर्च नहीं करना चाहिए। ज्यादा कर्जे वाली कंपनी को निकट भविष्य में बहुत ही ज्यादा कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है।

(ii) Low Promoter holding shares

जिस कंपनी में स्वयं प्रमोटर्स को विश्वास नहीं हो उस कंपनी में निवेशकों को कैसे विश्वास हो सकता है। अगर किसी कंपनी में प्रमोटर होल्डिंग कम हो या प्रमोटर होल्डिंग लगातार गिर रही हो तो उनमें निवेश करने से बचना चाहिए। न्यूनतम 20% से कम प्रमोटर होल्डिंग वाली कंपनियों को आप अपनी वाच लिस्ट से बाहर कर सकते हैं।

(iii) High Promoter Pledging companies 

ऐसी कंपनी जिनके प्रमोटर्स ने अपने शेयर ऋण लेने हेतु गिरवी रखे हुए हैं साथ ही pledged शेयर्स का प्रतिशत लगातार बढ़ रहा है तो आपको ऐसी कंपनी में निवेश नहीं करना चाहिए।

अगर प्रमोटर्स ने कंपनी के शेयर्स गिरवी रख कर अपना आख़िरी दांव चल दिया हैं तो उस बिज़नेस के भविष्य संकट में हैं। प्रमोटर संबधी सभी जानकारियां आप मनी कण्ट्रोल वेबसाइट से प्राप्त कर सकते हैं।

(iv) 52 Low companies 

52 वीक लो की तुलना में 52 वीक हाई वाले शेयर्स निवेश करने के हिसाब से काफी बढ़िया होते है। अगर किसी बहुत ही खराब चीज को आप बहुत ही सस्ते में भी खरीद लेते हैं तो भी वह आपको कुछ फायदा नहीं देने वाली। इसीलिए ऐसी कंपनियों में निवेश करने से आपको बचना चाहिए।

किसी स्टॉक में करेक्शन आना आम बात हैं परन्तु शेयर का लगातार गिरना ख़तरे की घंटी हैं।

7. मार्केट को टाइम करने का प्रयास नहीं करें

हम में सभी निवेशक मार्केट को टाइम करने की सोचते हैं। लेकिन आज तक कितना भी बड़ा निवेशक क्यों न हो, स्टॉक मार्केट को टाइम नहीं कर पाया है।

मार्केट को टाइम करना मतलब की स्टॉक मार्केट के बारे में शॉर्ट टर्म पूर्वानुमान लगाना। यदि आपने कोई स्टॉक ₹100 में लिया और ₹120 में इस अनुमान के साथ बेच दिया की वापस इसे मैं ₹105 आने पर खरीद लूंगा। लेकिन वह शेयर कभी भी वापस लौटकर ₹105 पर नहीं आया।  अगर बाद में वही क्वालिटी स्टॉक मल्टीबैगर बन गया तो आपको जो फायदा होता उस फायदे से आप महरूम रह जायेंगे।

8. पोर्टफोलियो को डायवर्सिफाई करें

कई निवेशक अपने पोर्टफोलियो को डायवर्सिफाई नहीं करके एक बहुत ही बड़ी गलती करते हैं। आपका संपूर्ण पैसा 1-2 स्टॉक में ही निवेश होने से जोखिम की मात्रा काफी बढ़ जाती हैं। ऐसे में कभी भी एक स्टॉक के गिरने से आपका पूरा पोर्टफोलियो डाउन हो जाता हैं।

इसलिए कभी भी अपना संपूर्ण पैसा 1-2 स्टॉक्स में नहीं लगाना चाहिए। अपने पोर्टफोलियो में 5 से 15 स्टॉक्स जरूर रखें जिनकी performance आप आसानी से ट्रैक कर सकें।

9. इन्वेस्टमेंट करने से पहले फाइनेंसियल एजुकेशन में निवेश करें

अधिकतर निवेशक अपनी निवेश यात्रा बिना किसी तैयारी के ही शुरू कर देते हैं। निवेश शुरू करने से पहले उसकी अच्छी नॉलेज होना आवश्यक है। इसीलिए शेयर खरीदने से पहले आपको क्या-क्या चीजें देखनी चाहिए इसकी ठीक-ठाक जानकारी होनी चाहिए।

इस प्रकार अगर आप अच्छी जानकारी के साथ स्टॉक मार्केट में कदम रखेंगे तो आपको बाद में परेशानी नहीं होगी और सीखते तो आपको निरंतर ही जाना हैं।

फाइनेंसियल एजुकेशन प्राप्त करने के लिए आप स्टॉक मार्केट बुक्स, मैगज़ीन, न्यूज़ पेपर आदि पढ़ सकते हैं।

पढ़े – Best Demat Account in India – आपके लिए बेस्ट ब्रोकर

निष्कर्ष (Conclusion)

दोस्तों, ऊपर बताई गई Share Market Tips for beginners अगर आपको निवेश शुरू करने से पहले पता लग जाये तो आप एक अलग समझदारी के साथ निवेश की शुरुवात कर सकते हैं। जो की अधिकांश लोग नहीं कर पाते।

बहुत से लोग इन आम गलतियों के कारण अपनी मेहनत की कमाई का पैसा स्टॉक मार्केट में गंवा देते हैं और शेयर बाजार को हमेशा के लिए छोड़ देते हैं। साथ ही वो अच्छा पैसा कमाने का मौका भी खो देते हैं।

अगर आप इन Share Market Tips को सीरियसली फॉलो करेंगे तो निश्चित तौर पर स्टॉक मार्केट में आपको सफलता पाने से कोई नहीं रोक सकता।

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Leave a Reply

Punji Guide