शेयर मार्केट टिप्स | बिगिनर के लिए जरुरी टिप्स

जब शेयर मार्केट में निवेश की बात आती हैं तो अधिकतर लोग शेयर मार्केट टिप्स खोजते नज़र आते हैं। यदि आप शेयर मार्केट टिप्स सिर्फ स्टॉक टिप्स खोजने के लिए करते हो तो यकीन मानिये आप गलत रास्ते पर निकल चुके हैं।

वहीं आप शेयर मार्केट टिप्स अपने शेयर मार्केट के ज्ञान को बढ़ाने के लिए, शेयर मार्केट का गणित समझने के लिए करते हो तो आप शेयर मार्केट से वास्तव में पैसा कमा सकते हो।

आज इस आर्टिकल में मैं आपको ऐसी बेहतरीन शेयर मार्केट टिप्स (Share Market Tips in Hindi) बताऊंगा जो आपको स्टॉक मार्केट में एक अच्छा निवेशक बनने में मदद करेगी। साथ ही ये स्टॉक मार्केट टिप्स आपको अनजाने में होने वाले नुकसान से भी बचाएगी। तो दोस्तों, बनें रहिये इस शेयर मार्केट के इंटरटेस्टींग आर्टिकल के साथ में।

शेयर मार्केट टिप्स | Share Market Tips in Hindi

मैं आपको अलग-अलग शेयर मार्केट टिप्स बताऊंगा जिन्हें आप पॉइंट वाइज पढ़ते जाए और खुद को एक बेहतरीन निवेशक बनाते जाइए।

Share Market Tips in Hindi

[1] सबसे पहले सीखें

आपने अंग्रेजी की एक फेमस कहावत तो सुनी ही होगी, “Learn to Earn”. इसका मतलब हैं की सबसे पहले सीखें और फिर कमाए। ये मेरा व्यक्तिगत अनुभव हैं की जब मैनें स्टॉक मार्केट में निवेश की शुरुवात की थी तब मैंने भी बिना कुछ सीखें इसमें कदम रखा और भारी नुकसान किया। इसलिए किसी भी चीज को करने से पहले सीखना जरुरी हैं।

अब ये बात भी सच हैं की जब हम एक नौकरी लगने के लिए 24-25 साल पढाई करते हैं तो क्यों न हम शेयर मार्केट के लिए भी कुछ सीख लें।

अब ये सीखना क्या हैं?

जो ये आर्टिकल आप पढ़ रहे हैं वो भी एक सीखना हैं। आप शेयर मार्केट को सीखने के लिए किताबें पढ़ सकते हैं, ब्लॉग पढ़ सकते हैं या अच्छे वीडियोस देख सकते हैं। जब भी आप सीख कर किसी चीज को करने उतरते हैं तो आपके सफल होने के चान्सेस अधिक हो जाते हैं जबकि फ़ैल होने के बहुत कम। आप बेस्ट शेयर मार्केट बुक्स इन हिंदी की जानकारी यहां से प्राप्त कर सकते हैं।

[2] तय करें की आप निवेशक हैं या ट्रेडर

अधिकतर व्यक्ति स्टॉक मार्केट में ये तय नहीं कर पाते की वे एक लॉन्ग टर्म निवेशक हैं या ट्रेडर। इसी चक्कर में वो गलत निर्णय लेते हैं और नुकसान कर लेते हैं।

शेयर मार्केट में लॉन्ग टर्म निवेशक वो होते हैं जो क्वॉलिटी कम्पनीज में लम्बे समय जैसे की 5-10 साल के लिए निवेश करते हैं। जबकि ट्रेडर वो व्यक्ति होता हैं जो नियमित रूप से ट्रेडिंग करता हैं। ये ट्रेडिंग शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग होती हैं।

जो व्यक्ति कोई नौकरी या बिज़नेस करते हैं उनके लिए लॉन्ग टर्म इन्वेस्टिंग बढ़िया मानी जाती हैं। क्योंकि ऐसे व्यक्तियों को समय का अभाव होता हैं। इसलिए यदि ऐसे में पोर्टफोलियो को 6 महिने या साल भर में भी रिव्यु किया जाये तो काम चल जाता हैं।

वही ट्रेडिंग में वही व्यक्ति सफल होते हैं जो की फुल टाइम ट्रेडर बनते हैं। हालांकि इसके कुछ अपवाद भी हैं। लेकिन ट्रेडिंग में बहुत अधिक समय की आवश्यकता पड़ती हैं। इसलिए शेयर मार्केट टिप्स का ये पॉइंट आपको बताता हैं की पहले तय कीजिये की आप एक निवेशक हैं या ट्रेडर।

[3] उसी कंपनी में निवेश करें जिसे आप समझते हैं

विश्व के महानतम निवेशक मिस्टर वारेन बुफेट ने कहा हैं “मैं ऐसी कोई कंपनी में निवेश नहीं करता जिसका बिज़नेस मैं नहीं समझता, चाहे फिर वो कंपनी कितनी ही बढ़िया हो” 

जिस कंपनी के बिज़नेस को आप समझ नहीं पाते तो आप आसानी से उस कंपनी को वैल्यू भी नहीं कर पाएंगे। इससे आपका निर्णय गलत भी हो सकता हैं। इसलिए आपको सिर्फ उसी कंपनी में निवेश करना चाहिए जिसका बिज़नेस आप समझ सकें।

जैसे की FMCG, ऑटो सेक्टर जैसी कंपनियों को समझना आसान हैं। वहीं IT और बैंकिंग कंपनियों को समझना थोड़ा मुश्किल हैं।

ये भी पढ़े:

[4] बहुत सारे शेयर एक साथ नहीं खऱीदे

हम में से अधिकतर लोग जल्दी अमीर बनने के लिए किसी एक ही कंपनी के शेयर एक साथ ख़रीद लेते हैं। एक साथ बड़ी मात्रा में शेयर खरीदना उसी तरह रिस्की हैं जैसे की म्यूच्यूअल फण्ड में लम सम करना। जबकि थोड़ी-थोड़ी मात्रा में शेयर खरीदना वैसे ही फायदेमंद हैं जैसे की SIP के द्वारा निवेश करना।

एक साथ बड़ी मात्रा में शेयर खरीदने से हमारे पैसे एक साथ चले जाते हैं। यदि हमारे शेयर ख़रीदने के बाद वो शेयर गिरावट दिखाता हैं तो फिर उसे एवरेज करने के लिए हमारे पास पैसा बचेगा नहीं।

कई समझदार निवेशक इस शेयर मार्केट टिप्स की तकनीक का उपयोग करके कम रिस्क से अच्छे स्टॉक पोर्टफोलियो का निर्माण कर पाते हैं।

[5] एक अच्छा पोर्टफोलियो बनायें

स्टॉक मार्केट में निवेश तभी फायदेमंद होता हैं जब आप एक अच्छा स्टॉक पोर्टफोलियो बनाते हैं। आपको अलग-अलग सेक्टर की कुछ अच्छी कंपनियों में निवेश करना चाहिए। अलग-अलग सेक्टर की कंपनियों में निवेश करने से आपकी रिस्क कम हो जाती हैं।

आपको सिर्फ एक-दो सेक्टर या एक-दो कंपनियों में ही निवेश नहीं करना चाहिए। इससे उस सेक्टर में दिक्कत आने से आपका सम्पूर्ण पोर्टफोलियो बहुत ज्यादा प्रभावित हो सकता हैं। आपको 15-20 अच्छी कंपनियों का एक संतुलित पोर्टफोलियो बनाना चाहिए। जिससे एक-दो कंपनी में प्रॉब्लम आने पर भी आपका पोर्टफोलियो बहुत अधिक डाउन नहीं होगा।

[6] बहुत अधिक कंपनियों के शेयर न ख़रीदे

मैंने कई ऐसे निवेशकों को देखा हैं जो अपने पोर्टफोलियो में 50-50 तक स्टॉक भरके रखते हैं। इतने सारें स्टॉक रखने से बढ़िया हैं की आपको इंडेक्स फण्ड ही खरीद लेना चाहिए। जिसमें आपको कम से कम पोर्टफोलियो को ट्रैक तो नहीं करना होगा।

यदि आपके पोर्टफोलियो में बहुत सारे स्टॉक होंगे तो आप उन्हें आसानी से ट्रैक नहीं कर पाएंगे। साथ ही किसी स्टॉक के बहुत अच्छा प्रदर्शन करने पर भी आपके पोर्टफोलियो में कुछ विशेष उछाल नहीं आएगा।

इसलिए आपको कुछ अच्छी कंपनीज का एक अच्छा पोर्टफोलियो बनाना चाहिए। आपके पोर्टफोलियो में अधिकतम 25 ही स्टॉक्स होने चाहिए।

[7] पैनी स्टॉक्स से बचें

कई लोगों की ऐसी मानसिकता होती हैं की ₹1 से ₹10 वाले शेयर ही बढ़िया होते हैं। क्योंकि ये मूल्य में सस्ते होते तो बहुत तेजी से बढ़ेगें। लेकिन वास्तव में ऐसा बिलकुल भी नहीं होता। बल्कि ऐसे पैनी स्टॉक ऑपरेटर्स के द्वारा मैनुपुलेट किये जाते हैं जिसमें रिटेल इन्वेस्टर्स को नुकसान ही होता हैं।

पैनी स्टॉक्स में बहुत ही ज्यादा रिस्क होती हैं। जिनमें पैसा डूबने के बहुत अधिक चान्सेस होते हैं।

Share Market Tips in Hindi
Source: Google

जैसे की MRF Limited का शेयर 2009 में लगभग ₹1600 के करीब था। यदि ये शेयर कुछ लोगों को इस प्राइस पर भी महंगा लग रहा हैं तो आज इस शेयर की कीमत ₹94,000 से भी ज्यादा हैं। इसलिए केवल शेयर प्राइस के आधार पर कभी भी तय न करें की वो शेयर सस्ता हैं महंगा।

[8] अपनी भावनाओं पर काबू रखें

शेयर बाजार इन्वेस्टिंग के रास्ते में सबसे बड़ी बाधाओं में से एक हैं भावनाओं पर नियंत्रण रखना। मार्केट में कई निवेशक महत्वपूर्ण निर्णय लेते समय अपने भावनाओं को नियंत्रित करने में विफल हो जाते हैं। ख़ासतौर पर जब मार्केट बेयरिश कंडीशन में होता हैं तो अधिकतर निवेशक जल्दबाजी में गलत निर्णय लेते हैं।

शेयर प्राइस एक शॉर्ट टर्म सेंटीमेंट होता हैं जिस पर आपको काबू पाना आना चाहिए। कई निवेशक दूसरे निवेशकों से प्रभावित होते हैं तो कई टेलीविज़न पर दिखाए जा रहे समाचार को देखकर। इसलिए शेयर मार्केट में अपने इमोशंस को कण्ट्रोल करना अति आवश्यक हैं।

आपको इस पॉइंट को सबसे महत्वपूर्ण शेयर मार्केट टिप्स (Share Market Tips in Hindi) में एक मानकर चलना चाहिए।

[9] शेयर बाजार की जोखिम को समझें

शेयर मार्केट टिप्स में अगला पॉइंट हैं की आपको शेयर मार्केट की जोखिम को समझना चाहिए। स्टॉक मार्केट इक्विटी मार्केट की रिस्क लेकर चलता हैं। इसलिए यहां पर शॉर्ट टर्म में बहुत अधिक रिस्क हो सकती हैं।

आपको मार्केट की अस्थिरता को ध्यान में रखना चाहिए। साथ ही आपको किसी भी ट्रेड से पहले अपने जोखिम सहने की क्षमता को समझना बहुत ज़रूरी होता है। प्रत्येक निवेशक की जोख़िम उठाने की कैपेसिटी अलग-अलग होती हैं। इसलिए आपको अपनी रिस्क उठाने की क्षमता के आधार पर शेयर मार्केट में निवेश करना चाहिए।

[10] उधार के पैसे स्टॉक मार्केट में न लगाए

जैसा कि आपने शेयर मार्केट टिप्स में ऊपर पढ़ा कि स्टॉक मार्केट में बहुत ज्यादा रिस्क होती है विशेष तौर पर शॉर्ट टर्म में।  इसलिए यदि आप कोई लोन लेकर या किसी से उधार लेकर या अपने इमरजेंसी फंड से स्टॉक मार्केट में निवेश करते हैं तो यह आपका निर्णय गलत हो सकता है। क्योंकि शार्ट टर्म में मार्केट काफी वोलेटाइल होता है।

यदि आपके खरीदे हुए शेयर डाउन चले जाते हैं और आपको पैसा वापस लौटाना होता है तो आपको नुकसान में ही अपने स्टॉक को बेचना होगा। इसलिए ऐसी गलती कभी भी ना करें। हमेशा अपने बचे हुए पैसे या अतिरिक्त पैसे जिनकी आपको भविष्य में आवश्यकता नहीं है, उन्हें ही स्टॉक मार्केट में निवेश करें।

ये भी पढ़े:

निष्कर्ष

स्टॉक मार्केट में निवेश करना काफी फायदे का सौदा हो सकता है बशर्ते आप स्टॉक मार्केट को समझे और फिर निवेश करें। शेयर मार्केट में अधिकतर व्यक्ति लॉन्ग टर्म के लिए निवेशित रहकर ही पैसा कमाते हैं। चाहें आप किसी भी बड़े निवेशक का उदाहरण ले लो चाहे वो मिस्टर राकेश झुनझुनवाला हो, मिस्टर वॉरेन बफेट हो या चार्ली मंगर हो। ये सभी निवेशक एक वैल्यू इन्वेस्टर थे जिन्होंने क्वालिटी और अच्छे स्टॉक्स में निवेश करके ही अपनी वेल्थ बनाई है।

इसलिए जहां तक हो सके तो आपको इंट्राडे या शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग नहीं करनी चाहिए। हालांकि यह पर्सन टू पर्सन निर्भर करता है कि वह निवेशक बने या एक ट्रेडर। लेकिन यदि आपके पास में समय का अभाव है तो आपको निश्चित तौर पर ट्रेडिंग नहीं करनी चाहिए।

तो दोस्तों, आज आपने इस आर्टिकल में शेयर मार्केट टिप्स (Share Market Tips in Hindi) समझी। यदि यह आर्टिकल आपको अच्छा लगा हो तो इस आर्टिकल को सोशल मीडिया नेटवर्क पर जरूर शेयर करें और यदि आपके कोई सवाल या सुझाव है तो आप मुझे नीचे कमेंट बॉक्स के माध्यम से बता सकते है।

धन्यवाद..!

FAQ – Share Market Tips in Hindi

  1. शेयर मार्केट में अच्छी कमाई कैसे करें?

    शेयर मार्केट से अच्छी कमाई का तरीका हैं की आपको मजबूत और फ़ण्डामेंटली स्ट्रांग कंपनियों के शेयर्स में निवेश करना चाहिए।

  2. शेयर बाजार में कब पैसा लगाना चाहिए?

    वैसे शेयर मार्केट में पैसा लगाने का कोई बेस्ट समय नहीं हैं। फिर भी मंदी या गिरावट के समय क्वॉलिटी शेयर्स को ख़रीदना अच्छा माना जाता हैं।

  3. शेयर खरीदने से पहले क्या देखना चाहिए?

    आपको शेयर खरीदने से पहले कंपनी का बिज़नेस, फाइनेंसियल, मैनेजमेंट और इंडस्ट्री की जानकारी प्राप्त करनी चाहिए।

Leave a Reply

पूंजी गाइड