सुकन्या समृद्धि योजना -आपकी बेटी का उज्जवल भविष्य

बेटियों के उज्जवल भविष्य के लिए भारत सरकार द्वारा 22 जनवरी 2015 को सुकन्या समृद्धि योजना लांच की गई। भारत, जिसमें बेटियों का स्थान बेटों की अपेक्षा कमतर आंका जाता है, यह स्कीम एक सराहनीय कदम है।

अगर आप एक बेटी के पिता है तो आप इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए उत्साहित जरूर होंगे, अगर नहीं भी है तो एक जागरूक निवेशक के तौर पर आपको इस स्कीम के बारे में जानना चाहिए। जिन लोगों को बेटियां एक बड़ी जिम्मेदारी के रूप में नजर आती है अपनी बचत की आदत से इस जिम्मेदारी को आराम से उठा सकते हैं। तो आइए जानते हैं सुकन्या समृद्धि योजना 2020 के बारे में आसान भाषा में। 

सुकन्या समृद्धि योजना क्या हैं? – What is Sukanya Samriddhi Scheme

सुकन्या समृद्धि योजना भारत सरकार की एक योजना है। यह स्कीम “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” स्कीम के अंतर्गत लांच की गई थी। इसका उद्देश्य बेटियों की शिक्षा एवं शादी के लिए फंड तैयार करना है। अगर आप शुरू से ही अपनी बेटी के लिए धीरे-धीरे करके  पैसे जोड़ने लग जायेंगे तो आपको आवश्यकता के समय अचानक से परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा।   

इस योजना में छोटी-छोटी राशि जमा करके एक अच्छा पैसा इकट्ठा किया जा सकता है। अगर आप स्टॉक मार्केट में अपना पैसा लगाकर रिस्क नहीं लेना चाहते हैं तो यह स्कीम आपके लिए बेस्ट है। 

सुकन्या समृद्धि अकाउंट कौन खुलवा सकता है?

बेटी के माता-पिता या कानूनी संरक्षणकर्ता (legal guardian) द्वारा सुकन्या समृद्धि स्कीम में अकाउंट बेटी के जन्म से 10 वर्ष की आयु प्राप्त करने से पूर्व खुलवाया जा सकता है। 10 वर्ष की आयु पूर्ण करने के बाद इसमें अकाउंट नहीं खुलवाया जा सकता हैं।

एक बेटी के लिए मात्र एक सुकन्या समृद्धि अकाउंट हो सकता है। एक परिवार की दो बेटियों के लिए अधिकतम दो खाते हो सकते हैं। दूसरे जन्म में 2 जुड़वाँ लड़कियां पैदा होने पर अधिकतम तीन अकाउंट खुलवा सकते हैं। कोई भी NRI इस अकाउंट को खुलवाने के पात्र नहीं हैं। 

सुकन्या समृद्धि अकाउंट कहां खुलवाएं?

यह अकाउंट वर्तमान में ऑनलाइन नहीं खुलवाया जा सकता है। आप पोस्ट ऑफिस या किसी बैंक की ब्रांच के माध्यम से सुकन्या समृद्धि अकाउंट खुलवा सकते हैं। यह अकाउंट मात्र ₹250 से खुल जा सकता है। यह अकाउंट किसी भी पोस्ट ऑफिस से बैंक या बैंक से पोस्ट ऑफिस में ट्रांसफर भी करवाया जा सकता है। 

अकाउंट खुलवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • सुकन्या समृद्धि योजना फॉर्म (account opening form) 
  • बेटी का जन्म-प्रमाण पत्र
  • Guardians का पहचान पत्र और एड्रेस प्रूफ

सुकन्या समृद्धि योजना – फॉर्म डाउनलोड 

सुकन्या समृद्धि योजना में कितनी राशि जमा करवा सकते हैं?

सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट में प्रत्येक वित्त वर्ष में न्यूनतम ₹ 250 जमा करवाने होते हैं और अधिकतम एक वर्ष में 1.5 लाख रुपये जमा करवाए जा सकते हैं। जिस वर्ष आपने अकाउंट खुलवाया है उस वर्ष से 15 वर्ष तक आपको इस अकाउंट में पैसा जमा करवाना होता है।

आप इस अकाउंट में  ₹100 के गुणांक में पैसे जमा करवा सकते हैं। आप अपने पैसे जमा करवाने के लिए अपने बैंक को स्टैंडिंग इंस्ट्रक्शन दे सकते हैं कि किसी निश्चित तारीख को एक निश्चित राशि आपके बैंक अकाउंट से आपके सुकन्या समृद्धि अकाउंट में ट्रांसफर कर दी जाए। इससे आपको बार-बार पैसा जमा करवाने की समस्या से छुटकारा मिलेगा। अगर आप चाहे तो बाद में इस राशि को घटा-बढ़ा भी सकते हैं। 

क्या होगा अगर किसी वर्ष न्यूनतम राशि जमा नहीं करवा पाए?

हो सकता है कभी आप किसी वर्ष न्यूनतम राशि ₹250 अकाउंट में जमा करवाने से चूक जाएं। ऐसी स्थिति में आपको ₹50 प्रति वर्ष जिसमे आपने न्यूनतम राशि जमा नहीं करवाई, पेनल्टी के रूप में देना पड़ता है। साथ में आप को न्यूनतम राशि भी जमा करवानी पड़ती है। चलिए से एक उदाहरण की सहायता से समझते हैं। 

मान लीजिए किसी ने 2 वर्ष लगातार अपने सुकन्या समृद्धि अकाउंट में न्यूनतम राशि जमा नहीं करवाई है। ऐसे में तीसरे वर्ष उस व्यक्ति को 2 वर्ष के लिए ₹100 पेनल्टी (50*2) और  ₹ 500 कंट्रीब्यूशन (250*2) जमा करवाना पड़ेगा। अगर कोई व्यक्ति पेनल्टी जमा नहीं करवाता है तो उसकी कुल जमा राशि पर पोस्ट ऑफिस saving interest के बराबर ही ब्याज मिलेगा। 

सुकन्या समृद्धि योजना Interest Rate 

सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट पर ब्याज दर प्रत्येक तिमाही पर भारत सरकार द्वारा तय की जाती है। सुकन्या समृद्धि योजना Interest Rate, PPF से 0.5% ज्यादा रहती है। वर्तमान में सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट पर ब्याज दर 7.6% है। (दिसंबर 2020 के अनुसार)

बोनस टिप
सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट में interest की कट ऑफ की तारीख प्रत्येक महीने की 10 तारीख रहती है। इसलिए पूरे महीने का ब्याज प्राप्त करने के लिए अपना अंशदान (contribution) प्रत्येक महीने की 10 तारीख से पहले जमा करवा दें। इससे आपको पूरे महीने का ब्याज मिलेगा और compounding में फायदा मिलेगा।

ये भी पढ़े –

योजना की अवधि

जैसे कि इस योजना का उद्देश्य बेटी की पढ़ाई और शादी के लिए फण्ड तैयार करना हैं। इसलिए सुकन्या समृद्धि योजना की मेच्योरिटी अवधि 21 वर्ष की रखी गई है। अकाउंट खोलने की तारीख से 15 वर्ष तक पैसा जमा करवाना होता है। 15 वर्ष के बाद अगले 6 वर्ष के लिए कोई पैसा जमा नहीं करवाना पड़ता और जिसमे जमा राशि पर ब्याज मिलता रहेगा। 

मान लीजिए वरुण ने अपनी बेटी मिस्टी के लिए 5 वर्ष की उम्र में 2020 में सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट खुलवाया। अब वरुण को 2034 तक पैसे जमा करवाने होंगे और 6 वर्ष बाद यानी 2040 में वह अपने पूरे पैसे निकाल सकता है। 

21 वर्ष की maturity अवधि यह मान कर रखी गई है कि किसी ने अपनी बेटी का सुकन्या समृद्धि अकाउंट उसके जन्म के कुछ समय पश्चात ही खुलवा लिया हो। इस स्थिति में 21 वर्ष की आयु में उसकी शिक्षा या शादी के लिए पैसो की आवश्यकता होती हैं।  

sukanya samriddhi yojana details interest rate

Pre Mature Account Closure

वैसे सुकन्या समृद्धि स्कीम अकाउंट 21 वर्ष के लिए लॉक-इन रहता है, परंतु कुछ विशेष परिस्थितियों में इस अकाउंट को प्रीमेच्योर क्लोज करवाया जा सकता है। 

  • किसी कारणवश अकाउंट होल्डर (daughter) की मृत्यु हो जाने पर अकाउंट प्रीमेच्योर बंद करवाया जा सकता है। इसके लिए अकाउंट होल्डर का डेथ सर्टिफिकेट सबमिट करना होता है। इसमें जमा पूरी राशि ब्याज सहित अकाउंट होल्डर के गार्जियन को दे दी जाती है। 
  • पैरंट्स या Guardians की मृत्यु हो जाने पर आर्थिक बोझ के कारण भी सुकन्या समृद्धि स्कीम अकाउंट बंद करवाया जा सकता है। 
  • अकाउंट होल्डर की सिटीजनशिप बदल जाने की स्थिति में भी अकाउंट समय पूर्व बंद करवाया जा सकता है। परंतु यहां पर भी अकाउंट खोले हुए कम से कम 5 वर्ष होने आवश्यक है।
  • लड़की के जीवन को खतरे में डालने वाली बीमारी हो जाने की स्थिति में पैसो की आवश्यकता के कारण अकाउंट बंद करवाया जा सकता हैं। 

प्रीमेच्योर विड्रोल

हम में से अधिकतर ऐसी योजना को तवज्जो देते हैं जिसमे लॉक इन पीरियड नहीं हो। परन्तु ये बात भी सच है की बिना लॉक इन अवधि वाली स्कीम में बड़ी रकम जमा भी नहीं हो पाती हैं।

जब बेटी की उम्र 18 वर्ष की हो जाए तब उसकी शादी के लिए या उसके हायर एजुकेशन के लिए खाते में जमा राशि का 50% निकाल सकते हैं। बाकी बची हुई राशि आप 21 वर्ष पूरे होने के पश्चात ही निकलवा सकते हैं। 

सुकन्या समृद्धि अकाउंट पर टैक्स कितना लगता है

भारत सरकार की बेटी कल्याण योजना से संबंधित होने के कारण इस योजना में बहुत से टैक्स लाभ दिए गए हैं। सुकन्या समृद्धि अकाउंट में किया गया निवेश Guardians द्वारा इनकम टैक्स की धारा 80(c) में क्लेम किया जा सकता है। PPF की तरह यह निवेश भी E.E.E में आता है।

  • Exempt – किया गया निवेश करमुक्त 
  • Exempt – मिलने वाला ब्याज करमुक्त 
  • Exempt – Maturity पर मिलने वाली संपूर्ण राशि करमुक्त 

इस प्रकार सुकन्या समृद्धि में किया गया संपूर्ण निवेश करमुक्त होता है, जो इस स्कीम को दूसरी स्कीम्स से अलग बनाता है। 

सुकन्या समृद्धि अकाउंट के फायदे

यह अकाउंट आपको बेहतरीन लाभ प्रदान करता है और आपको अपनी बेटी के उज्जवल भविष्य के लिए सुकन्या समृद्धि अकाउंट जरूर खुलवाना चाहिए। 

बहुत ही कम डिपाजिट की आवश्यकता – अकाउंट में प्रतिवर्ष मात्र ₹250 भी जमा करवाए जा सकते हैं जिससे आर्थिक रुप से कमजोर व्यक्ति भी इस अकाउंट का फायदा ले सकते हैं। 

पूर्ण रूप से कर मुक्त – सुकन्या समृद्धि अकाउंट पूर्ण रूप से करमुक्त होता है। इसलिए इसके रिटर्ंस के मायने ओर भी बढ़ जाते हैं। 

आकर्षक ब्याज दर – इस योजना में अन्य सरकारी योजनाओं के मुकाबले ब्याज दर बहुत ही बढ़िया हैं। जैसे – PPF, Fixed Deposit  

बेटी का उज्जवल भविष्य – सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट में पैसे जमा करके आप अपनी बेटी की शिक्षा एवं विवाह संबंधी खर्चों को पूरा कर सकते हैं। 

कोई जोखिम नहीं – सरकारी योजना होने के कारण इसमें बिल्कुल भी जोखिम नहीं है। आपका पैसा पूर्ण रूप से सुरक्षित रहता है। 

प्रीमेच्योर विड्रोल – ऊपर समझाई गई कुछ विशेष परिस्थितियों में प्रीमेच्योर विड्रोल भी करवाया जा सकता है। 

अकाउंट आसानी से ट्रांसफरेबल – इस अकाउंट को देश में कहीं भी पोस्ट ऑफिस से बैंक में या बैंक से पोस्ट ऑफिस में आसानी से ट्रांसफर करवाया जा सकता है। 

निष्कर्ष 

मिडिल क्लास या आर्थिक रूप से पिछड़े परिवारों में बेटियों की जिम्मेदारी बहुत बड़ी होती हैं। आर्थिक तंगी के कारण लड़कियां पढ़ नहीं पाती हैं, इसलिए भारत में महिलाओं  साक्षरता दर बहुत कम हैं।

परन्तु सुकन्या समृद्धि योजना में अकाउंट खुलवा कर आप अपनी बेटियों के सपने साकार कर सकते हैं। 

आपको सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट से संबंधित कोई भी सवाल हो तो हमे नीचे कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते हैं।  

Leave a Reply