Mutual Fund NAV क्या हैं? NAV के बारे में 3 गलतफहमियां

आप में से हमारे कई दोस्त Mutual Fund NAV के बारे में अनजान हैं या उन्हें सही जानकारी नहीं हैं। अगर आप Mutual Funds में इन्वेस्ट करते हैं तो आपके लिए Mutual Fund NAV को समझना बहुत महत्वपूर्ण हैं। इस आर्टिकल के माध्यम से आज मैं Mutual Fund NAV से संबंधित सभी सवालों का जवाब दूंगा। इसमें आप समझेंगे कि Mutual Fund NAV क्या हैं हिंदी में, Mutual Fund NAV calculation और NAV से सम्बंधित गलतफहमियां क्या है। 

Mutual Fund NAV क्या हैं? (What is Mutual Fund NAV in Hindi)

NAV की फुल फॉर्म Net Asset Value होती है। NAV को किसी म्यूच्यूअल फण्ड की एक यूनिट की बुक वैल्यू भी कहा जाता है। जिस प्रकार किसी एक शेयर या स्टॉक का मूल्य होता है वैसे ही किसी म्यूच्यूअल फण्ड स्कीम की NAV होती हैं। इस NAV के आधार पर ही निवेशक को म्यूच्यूअल फंड्स की यूनिट्स आवंटित की जाती हैं। 

NAV या Net Asset Value का मूल्य प्रत्येक ट्रेडिंग डे के अंत में बदलता रहता हैं। 

हम म्यूच्यूअल फंड NAV को आगे फार्मूला के माध्यम से समझेंगे उससे पहले हम समझते हैं कि म्यूचुअल फंड यूनिट क्या होती है

Mutual Fund में units क्या होती हैं? (What is Units in Mutual Funds) 

बहुत ज्यादा निवेश राशि होने के कारण mutual fund स्कीम यूनिट्स में विभाजित होती हैं। फंड हाउस द्वारा निवेशकों को उनके द्वारा किए गए निवेश के आधार पर यूनिट जारी की जाती है। ये यूनिट आपके करंट इन्वेस्टमेंट की वैल्यू ज्ञात करने के काम आती है। 

Mutual Fund में units कैसे कैलकुलेट की जाती हैं? 

आपके म्यूच्यूअल फण्ड निवेश पर आपको कितनी units आवंटित की जाएगी, इसकी गणना आप इस फॉर्मूले से कर सकते हैं।

Units = निवेशक द्वारा किया गया इन्वेस्टमेंट ÷ NAV

यहां यह बात ध्यान देने योग्य है कि किसी भी Mutual Fund की NAV सिर्फ एक यूनिट का ही मूल्य होता है। नीचे दी गई टेबल से आपको यूनिट का कांसेप्ट बिल्कुल क्लियर हो जाएगा –

  SBI Mutual Fund  HDFC Mutual Fund 
आपके द्वारा किया गया निवेश ₹ 10,000  ₹ 20,000 
Fund की NAV  ₹ 20  ₹ 25 
आपको कितनी यूनिट्स मिलेगी 500 यूनिट्स  400 यूनिट्स 

ये भी पढ़े – 

NAV कैसे निकाली जाती हैं? (Mutual Fund NAV Calculation) 

किसी भी म्यूच्यूअल फंड की NAV उसके एक यूनिट का मूल्य या दाम होती है। एक म्यूच्यूअल फंड अनेक निवेशकों के जमा धन से मिलकर बना होता है। जो पैसा हम जमा करते हैं वह फंड मैनेजर द्वारा मैनेज किया जाता है। फण्ड मैनेजर अपनी एक्सपर्ट सेवाओं के बदले हमसे Expenses Ratio के रूप में कॉस्ट चार्ज करते हैं जो एक 2% तक हो सकता हैं। फंड मैनेजर ही यह तय करता है कि वह निवेशकों का पैसा कहां-कहां लगाएगा। सामान्यतः फंड मैनेजर आपका पैसा स्टॉक मार्केट, कॉरपोरेट्स बांड्स, गवर्नमेंट बॉन्ड्स में लगाता है। इन स्टॉक्स, बांड्स के मार्केट रिटर्न्स पर ही Mutual Fund की NAV निर्भर करती हैं।

NAV = (Total Asset of Mutual Fund – Total Exp. and Liabilities of Mutual Fund) ÷ Total Outstanding Units

यहाँ –

  • Total Asset of Mutual Fund = स्टॉक्स + बांड्स + Cash
  • Total Exp. and Liabilities of Mutual Fund = Management Fee या  Expenses Ratio + Redemption Claims of Mutual Funds
  • Total Outstanding Units = कुल यूनिट्स जो निवेशकों के पास में हैं। 

चलिए दोस्तों, NAV की Calculation को एक उदाहरण की सहायता से समझते हैं –

SBI Mutual Funds में 2020 में कई निवेशकों ने मिलकर 1,00,000/- जमा किये। उस समय इस म्यूच्यूअल फण्ड कंपनी के कुल 10,000/- के खर्चे या दायित्व थे। सभी निवेशकों को मिलाकर कुल 5000 यूनिट्स जारी की गई थी।  

यहाँ 2020 में NAV (Net Asset value) होगी =  ( ₹ 1,00,000 – ₹ 10,000) ÷ 5000 =  ₹18

मान लीजिये 2025 में ₹1,00,000 के निवेश की कीमत बढ़कर ₹1,80,000 हो गई और एक्सपेंसेस ₹20,000 अब यहाँ NAV क्या होगी?   

NAV in 2025 = ( ₹ 1,80,000 – ₹ 20,000) ÷ 5000 =  ₹32

SIP या Lump  sum पर यूनिट्स किस प्रकार आवंटित होती हैं?

दोस्तों, आपने NAV Meaning तो समझ लिया। अब सवाल उठता है कि आपके द्वारा किये गए इन्वेस्टमेंट पर यूनिट्स किस प्रकार आवंटित की जाती हैं। चाहे आप SIP कर रहे हो या लम सम, जब भी आपका पैसा म्यूच्यूअल फंड कंपनी के पास पहुंचेगा उस दिन की NAV के आधार पर आपको यूनिट्स आवंटित की जाएगी। 

आपके द्वारा किये गए इंवेस्टमेंट् में Present NAV का भाग लगाकर आपको यूनिट्स allot की जाती हैं। जैसे की आपकी 5000 की SIP की क़िस्त गई और उस समय आपकी स्कीम की NAV 100 थी। यहाँ आपको 50 यूनिट्स क्रेडिट की जाएगी। 

NAV का क्या उपयोग हैं या NAV का क्या महत्व हैं? 

  • आपके म्यूच्यूअल फण्ड फोलियो में कुल क्रेडिट यूनिट्स और करंट NAV का गुणा ही आपके पोर्टफोलियो की Current value होती है। 
  • Present Portfolio Value = Total units × Present NAV
  • जब भी किसी निवेशक द्वारा Buy या sell के सौदे किये जाते हैं वे NAV के आधार पर ही किये जाते हैं।
  • Buy करते वक़्त units निकालने के लिए NAV का उपयोग किया जाता हैं।
  • Redemption transaction में NAV के द्वारा ही Redemption वैल्यू ज्ञात की जाती हैं।  

Mutual Fund NAV calculation

NAV से सम्बंधित गलतफहमियां 

NAV से सम्बंधित कुछ गलतफहमियां अगले 3 पॉइंट्स के माध्यम से बताई गई हैं। 

1. क्या म्यूचुअल फंड खरीदते वक्त NAV देखनी चाहिए?

कई निवेशक म्यूचुअल फंड NAV एवं Stock की प्राइस को एक जैसा ही समझते हैं। कहने का मतलब हैं कि जैसे कि कोई स्टॉक का मूल्य ज्यादा है तो वह overvalued दिखाई देता हैं या फिर किसी कम मूल्य वाले शेयर को undervalued देखकर ज्यादा रिटर्न की आशा में खरीदना।

परंतु म्यूचुअल फंड खरीदने से पहले NAV को check करने का कोई तुक नहीं बैठता। आइये इसे मैं एक आसान से उदाहरण की सहायता से बताने का प्रयास करता हूँ। 

  Aditya Birla Sun Life Frontline Eq. Fund Franklin India Equity Fund 
Current NAV (as on 22.01.2021) 277.24 737.45
Fund Launch Date 30 Aug- 2002 29 Sep- 1994
1 Year Return  18.67% 23.06%
3 Year Return 6.92% 6.38%
5 Year Return 13.64% 12.80%

इस टेबल से आपको समझ में आ गया होगा कि NAV का फंड सलेक्शन से कोई संबंध नहीं है। ऊपर उदाहरण में आप देख सकते हैं कि बिरला सन लाइफ की NAV फ्रैंकलिन इंडिया फण्ड के मुकाबले काफी कम है। परन्तु इसका मतलब ये नहीं है कि Aditya Birla फंड undervalued हैं और वह Franklin India के मुकाबले ज्यादा returns देगा। यहाँ दोनों फंड्स ने लगभग एक जैसा प्रदर्शन किया हैं। 

इसलिए कभी भी म्यूच्यूअल फंड्स खरीदते समय NAV को चेक करना बिलकुल भी जरुरी नहीं हैं। Mutual Funds को evaluate करने में पास्ट परफॉरमेंस और रिटर्न्स ही देखे जाते हैं। 

2. क्या आपको ज्यादा NAV वाले म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहिए?

किन्ही दो या अधिक म्यूच्यूअल फण्ड स्कीम्स की NAV का आपस में कम या ज्यादा होना किसी म्यूच्यूअल फंड की परफॉर्मेंस से कोई संबंध नहीं है। किसी शेयर प्राइस के जैसे NAV कभी भी undervalued या overvalued नहीं हो सकती। इसका सीधा सा कारण है कि NAV डिमांड और सप्लाई से कंट्रोल नहीं होती है। NAV मात्र AUM (Asset under Management) से कंट्रोल होती है। 

इसलिए Mutual Fund चुनते वक़्त NAV कितनी हैं, देखना आवश्यक नहीं हैं।   

3. क्या NAV भी स्टॉक प्राइस के जैसे गिरती है?

जैसा कि आप जानते हैं कि म्यूचुअल फंड अपना अधिकांश निवेश स्टॉक मार्केट में करते हैं। स्टॉक का मूल्य निरंतर बदलता रहता है। अगर निवेशित shares का मूल्य बढ़ेगा तो NAV भी बढ़ेगी और shares की प्राइस कम होगी तो NAV में भी गिरावट आएगी। इस प्रकार स्टॉक मार्केट के प्रदर्शन के आधार NAV लगातार घटती-बढ़ती रहती हैं। 

Stock Price और Mutual Fund NAV में क्या अंतर है?

जैसा कि मैंने पहले बताया स्टॉक प्राइस और म्यूचुअल फंड एनएवी में कोई सीधा संबंध नहीं है। आप जब भी किसी शेयर या स्टॉक को खरीदते हैं तो आप उसके मार्केट प्राइस पर खरीदते हैं। जबकि Mutual Funds में खरीदारी-बिकवाली बुक वैल्यू पर होती है। Mutual Funds में NAV ही बुक वैल्यू होती है।

किसी शेयर की प्राइस ट्रेडिंग सेशन के दौरान हर मिनट बदलती रहती है। जबकि म्यूच्यूअल फंड की NAV ट्रेडिंग डे के अंत पर ही निकाली जाती है। सेबी के निर्देशानुसार हर म्यूच्यूअल फण्ड हाउस अपनी प्रत्येक स्कीम की NAV हर दिन कैलकुलेट करके disclose करता हैं। 

किसी शेयर का मूल्य डिमांड और सप्लाई पर निर्भर करता हैं। परन्तु NAV का मूल्य म्यूच्यूअल फण्ड की डिमांड और सप्लाई पर निर्भर नहीं करता।

किसी Mutual Fund की NAV कैसे देखें?

अगर आप भी किसी म्युचुअल फंड की NAV देखना चाहते हैं तो आप NAV इन प्लेटफार्म पर देख सकते हैं। मनीकंट्रोल, वैल्यू रिसर्च, फंड हाउस की वेबसाइट वेबसाइट से। 

Investment Timing का NAV से क्या सम्बन्ध हैं?

सेबी के नए नियमों के अनुसार 1 फरवरी 2021 से निवेशक को उस दिन की NAV आवंटित की जाएगी जब पैसा म्यूच्यूअल फंड हाउस के पास पहुंच जाएगा। अगर आप कोई भी ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करते हैं जो ट्रेडिंग डे के 3:00 बजे से पहले किया गया है तब आपको उसी दिन की NAV प्राप्त होगी।

अगर आपने 3:00 बजे के बाद ट्रांजैक्शन किया है तो अगले ट्रेडिंग डे की NAV अलॉटमेंट होगी। SIP के ऑटो डेबिट की स्थिति में पैसा जिस दिन में म्यूच्यूअल फंड कंपनी के पास पहुंचेगा उस दिन की NAV आवंटित की जाएगी। 

निष्कर्ष 

दोस्तों, आपने आज जाना की NAV को ज्यादा तवज्जो देना आवश्यक नहीं हैं परन्तु फिर भी इसका बेसिक कांसेप्ट आपको जरूर पता होना चाहिए। 

ये भी पढ़े – SIP क्या है और SIP के फायदे

आज इस आर्टिकल के माध्यम से आपने समझा की What is Mutual Fund NAV, Mutual Fund NAV meaning और Mutual Fund NAV calculation. अगर आपको ये आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स में जरूर शेयर कीजिए।  

Leave a Reply

Punji Guide