What is SWP? SWP से पाये एक रेगुलर इनकम

कैसा होगा अगर आपके Mutual Fund इन्वेस्टमेंट से आपको एक रेगुलर इनकम प्राप्त होने लग जाये। SWP इस रेगुलर इनकम को प्राप्त करने का जरिया हैं। SWP के माध्यम से एक नियमित अंतराल आपको इनकम प्राप्त होती रहेगी। अगर आप भी SIP कर रहे हैं तो आपको भी SWP के बारे में जरूर जानकारी होनी चाहिए।

चलिए SWP को विस्तार से समझते हैं और इस पोस्ट के माध्यम से समझेंगे की SWP Kya hain (What is SWP), इसे चालू कैसे करे और SWP से जुड़े हर सवाल का जवाब।

SWP meaning

SWP Full Form हैं Systematic Withdrawal Plan.  SWP एक Redemption स्कीम (फण्ड निकासी का तरीका) हैं। जैसे SIP में आप हर महीने कुछ इन्वेस्टमेंट करते हो, SWP में आपके इन्वेस्टमेंट में से निश्चित राशि वापस बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर जाती हैं। SWP में हर महीने या जो समय आपने चुना हैं एक निश्चित राशि आप प्राप्त करते हो। इस अमाउंट के लिए जितनी यूनिट्स की आवश्यकता होगी उतनी यूनिट्स म्यूच्यूअल फण्ड हाउस द्वारा बेच दी जाएगी।

SWP क्या हैं? What is SWP in Hindi

What is SWP in Mutual Fund?


Mutual Fund में SWP एक ऐसी सुविधा हैं जिसके माध्यम से निवेशक एक निश्चित समय अंतराल में कुछ राशि निकाल सकते हैं। यह समय अंतराल साप्ताहिक, मासिक, त्रेमासिक, अर्धवार्षिक या वार्षिक हो सकता हैं। कितनी राशि निकालनी हैं ये स्वयं निवेशक करता हैं। इसमें निवेशकों के पास विकल्प रहता हैं की या तो वे एक निश्चित रकम निकाल ले या फिर अपने इन्वेस्टमेंट पर होने वाले कैपिटल गेन को निकाल सकते हैं।

SWP कैसे काम करता हैं?

इस उदाहरण की सहायता से आप SWP in Mutual Funds को आसान भाषा में समझ पाएंगे।

मान लीजिये राजेश ने सन 2000 में 5000 की हर महीने HDFC Sensex Plan में SIP जमा करवाई। 2020 में राजेश के पोर्टफोलियो की वैल्यू 1 करोड़ हो गई। अब यहाँ राजेश के पास दो विकल्प हैं। पहला वो पुरे पैसे निकालकर अपने बैंक अकाउंट में शिफ्ट कर दे या उन पैसों को कहीं इन्वेस्ट कर दे।

दूसरे विकल्प में वो अपने म्यूच्यूअल फण्ड पोर्टफोलियो पर SWP Plan ले सकता हैं।

मान लीजिये 31.12.2020 को उसके पोर्टफोलियो की वैल्यू 1 करोड़ और स्कीम की NAV (Net asset value) 500 हैं। इस हिसाब से राजेश के पोर्टफोलियो में कुल 20,000 यूनिट्स होगी।

उसने 01 जनवरी 2021 से ₹50,000 की SWP Scheme चालू करवाई। इसकी कैलकुलेशन आप नीचे टेबल से समझ सकते हैं।

Date SWP Amount वर्तमान NAV  (Assuming) बेचीं जाने वाली यूनिट्स (राउंड ऑफ) बैलेंस यूनिट पोर्टफोलियो की करंट वैल्यू
01 जनवरी 2021 ₹50,000 505 50000/505 = 99 यूनिट 19,901 ₹ 1,00,50,005
01 फरवरी 2021 ₹50,000 527 50000/527 = 95 यूनिट 19,806 ₹ 1,04,37,762
01 मार्च 2021 ₹50,000 570 50000/570 = 87 यूनिट 19,719 ₹ 1,12,39,830
01 अप्रैल 2021 ₹50,000 480 50000/480 = 104 यूनिट 19,615 ₹ 94,15,200
01 मई 2021 ₹50,000 440 50000/440 = 114 यूनिट 19,501 ₹ 85,80,440
01 जून 2021 ₹50,000 475 50000/475 = 105 यूनिट 19,396 ₹ 92,13,100

उपरोक्त टेबल से ध्यान से देखने पर आपको पता चलेगा की म्यूच्यूअल फण्ड की NAV ज्यादा होने पर कम यूनिट बेचने की आवश्यकता पड़ती हैं। इस स्थिति में आपका पोर्टफोलियो में ज्यादा यूनिट्स बची रहेगी।

परन्तु NAV गिरने की स्थिति में आपको आपका Withdrawal अमाउंट देने के लिए फण्ड हाउस को ज्यादा यूनिट बेचनी पड़ेगी। इस कारण आपके पोर्टफोलियो में यूनिट जल्दी खत्म होने लगती हैं।

NAV का कम-ज्यादा होना Equity म्यूच्यूअल फंड्स पर प्रभाव डाल सकता हैं परन्तु Debts फंड्स में ऐसी कोई समस्या नहीं होती। क्योंकि Debts Funds में मार्केट की उठा-पटक का ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ता।

पढ़े – Mutual Fund NAV क्या हैं? NAV के बारे में 3 गलतफहमियां

SWP के प्रकार – Types of SWP

SWP को दो तरीकों से चालू करवाया जा सकता हैं।

1. Fixed Periodical Withdrawal

इस विकल्प में एक पूर्व निर्धारित समय पर एक निश्चित राशि निकालने का विकल्प होता हैं। जैसे की ₹20,000 प्रति माह। इस राशि का भुगतान म्यूच्यूअल फण्ड हाउस करंट NAV पर आपकी यूनिट्स बेचकर आपको कर देता हैं।

2.  Appreciation Withdrawal

इस विकल्प में आपके इन्वेस्टमेंट पर जो भी रिटर्न मिल रहा हैं, वह आपके बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर दिया जाता हैं। मान लीजिये आपके इन्वेस्टमेंट पोर्टफोलियो में 10 लाख रुपए जमा हैं। आपके पोर्टफोलियो ने एक महीने में ₹20,000 का रिटर्न दिया। इस स्थिति में मासिक SWP में आपके बैंक अकाउंट में ₹20,000 ट्रासंफर कर दिया जायेगा। अगर अगले महीने रिटर्न ₹10,000 हैं तो आपको ₹10,000 मिलेगा।

लेकिन Appreciation withdrawal का एक नुकसान यह हैं की कई बार पोर्टफोलियो में नेगेटिव रिटर्न हो सकता हैं। जिस कारण आपको उस महीने में कोई पैसा नहीं मिल पाता हैं जो आपके SWP करवाने के उद्देश्य को मैच नहीं कर पाता हैं। खासतौर पर जब आपने अपनी रिटायरमेंट उम्र में SWP Plan लिया हो।

mutual fund swp meaning in hindi

SWP पर कितना Tax लगता हैं? Tax on SWP

SWP के द्वारा किये गए रिडेम्पशन पर टैक्स देना होता हैं।

Debt Fund – 3 वर्ष पूर्व बेचीं गई Debt Fund की यूनिट्स पर टैक्स आपकी इनकम टैक्स स्लैब के अनुसार ही लगेगा। यानि की इसका प्रॉफिट आपकी इनकम में जुड़कर taxable होगी। 3 वर्ष के बाद बेचे गए इन्वेस्टमेंट पर LTCG (लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन) लगता हैं जो की 20% हैं।

Equity Fund – इक्विटी फंड्स में मामले में 1 वर्ष के भीतर बेचे गए निवेश पर 15% की दर से STCG (शार्ट टर्म कैपिटल गेन) टैक्स लगता हैं। होल्डिंग पीरियड के 1 वर्ष से ज्यादा होने पर 15% की दर से LTCG लगता है। यहाँ पर आपकी अन्य आय कितनी भी हो आपको ये टैक्स देना ही होता हैं।

SWP कैसे स्टार्ट करे?

Mutual Fund SWP Plan में शुरुवात करने के लिए आपके पास दो विकल्प मौजूद हैं। पहले ऑप्शन में आप ऑनलाइन फण्ड हाउस की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर SWP के लिए अप्लाई कर सकते हैं। ऑनलाइन तरीका ऑफलाइन तरीके की बजाय बहुत आसान हैं, इसमें आप कागजी कार्यवाही से बच जाते हैं। इसमें आपको payout amount और payout frequency चुननी होती हैं।

अगर आप ऑनलाइन SWP के लिए आवेदन नहीं कर पा रहे हैं तो आप SWP  का फॉर्म भरकर फण्ड हाउस के नजदीकी ऑफिस में जमा करवा सकते हैं। कुछ बड़े म्यूच्यूअल फण्ड हाउस के SWP Forms नीचे लिंक्स में दिए गए हैं। आप इसमें मांगी गई सूचनाओं और जानकारियों का अवलोकन कर सकते हैं।

SWP और SIP में क्या अंतर हैं?

SWP और SIP एक दूसरे के बिलकुल विपरीत हैं।

  • SIP में आप हर महीने पैसा जमा करवाते हो जबकि SWP में आपको आपके बैंक अकाउंट में पैसा मिलता हैं।
  • SIP करने पर आपके फोलियो (Folio) में यूनिट्स जमा होती हैं परन्तु SWP में यूनिट्स आपके फोलियो से कम होती हैं।

 क्या SWP करवाने पर चार्ज लगता है?

SWP स्कीम चालू करवाने पर कोई भी शुल्क या चार्ज नहीं लगता।

SWP में withdrawal के क्या विकल्प मौजूद हैं?

आप SWP के माध्यम से निकासी करने लिए साप्ताहिक, मासिक, त्रेमासिक, अर्धवार्षिक या वार्षिक जैसा भी आपको सही लगे चुन सकते हैं। ये आपके फण्ड हाउस से कन्फर्म करना होगा की वे किस-किस समय की सुविधा प्रदान करते हैं।

क्या SWP Plan में बदलाव कर सकते हैं?

आप जब चाहे अपनी SWP Scheme को बंद करवा सकते हैं साथ ही इसकी withdrawal timing को भी बदल सकते हैं।

SWP के फायदे – Benefits of SWP

  • SWP Scheme उन निवेशकों के लिए बढ़िया विकल्प हैं जिन्होंने अपने पोर्टफोलिओ में अच्छा-खासा फण्ड जमा कर लिया हो। रिटायरमेंट की उम्र में ये आपकी एक नियमित आय का अच्छा साधन बन सकता हैं।
  • आप SWP में अपनी जरूरत और समय के हिसाब से राशि का चयन कर सकते हैं। यानि की इसमें आप अपनी आवश्यकता के अनुसार redemption का फायदा उठा सकते हैं।
  • नियमित आय के लिए म्यूच्यूअल फण्ड डिविडेंड प्लान की अपेक्षा SWP प्लान फायदेमंद हो सकता हैं।

SWP के लिए सावधानियां

अगर किसी प्लान के फायदे होते हैं तो उसके कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। जिसके लिए आपको कुछ सावधानिया बरतने की आवश्यकता पड़ती हैं।

  • Equity Mutual Fund से SWP चलाने से मार्केट की Volatility के कारण निवेशक का पोर्टफोलियो जल्दी खाली हो सकता हैं। Debt Funds के लिए SWP बेस्ट विकल्प होता हैं।
  • वैसे आप SWP छोटे पोर्टफोलियो में भी करवा सकते हैं परन्तु इसमें आपको कम राशि मिलेगी वो भी कम समय के लिए। अगर आपके पोर्टफोलियो में बड़ा कार्पस जमा हो चूका हैं तो SWP आपके लिए बेस्ट रिडेम्पशन प्लान हो सकता हैं।
  • सभी फंड हाउस की टर्म्स एंड कंडीशन SWP के लिए अलग-अलग हो सकती है, जैसे कि SWP के लिए न्यूनतम कितना अमाउंट चाहिए, SWP की न्यूनतम समय अवधि कितनी होगी आदि। बेहतर होगा कि आप किसी भी SWP स्कीम को करवाने से पहले उस स्कीम से संबंधित सभी टर्म्स एंड कंडीशन को पढ़ ले। जिससे आपको बाद में समस्या का सामना ना करना पड़े।

निष्कर्ष – What is SWP in Mutual Fund

दोस्तों, आपको समझ में आया होगा की SWP एक रिडेम्पशन प्लानिंग के तहत लाई गई स्कीम हैं। SWP म्यूच्यूअल फण्ड में एक बड़ा कार्पस हो जाने के बाद उसे Systematic ढंग से निकालने का एक बेस्ट विकल्प हैं।

ये भी पढ़े – सही Mutual Fund कैसे चुनें – 12 बातों का जरूर ध्यान रखे

आज आपने समझा की SWP meaning, What is SWP in Hindi. SWP कैसे काम करता हैं। अगर आपको SWP से सम्बंधित कोई भी सवाल या सुझाव हो तो आप इसे कमेंट बॉक्स के द्वारा बता सकते हैं।

अगर आपको ये आर्टिकल बढ़िया लगा हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों से शेयर कीजिये।

Leave a Reply

Punji Guide