मल्टीबैगर स्टॉक क्या होता है | मल्टीबैगर स्टॉक कैसे चुने

शेयर मार्केट में निवेश करते समय हमें अनेक चीजें ध्यान में रखनी होती है। इनमें से कई चीजें बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होती है तो कई संबंधित चीजें होती है जिनका ध्यान रखना भी आवश्यक होता है।

यदि आप स्टॉक मार्केट में निवेश करते हैं तो आपने यह तो सुना ही होगा कि उस स्टॉक ने मल्टीबैगर रिटर्न्स बनाकर दिए हैं।  लेकिन एक नए निवेशक के लिए ये समझना थोड़ा मुश्किल होता हैं की मल्टीबैगर स्टॉक क्या होता है और मल्टीबैगर स्टॉक कैसे चुने। 

multibeggar stock kya hota hai kaise chune

आज इस आर्टिकल में हम मल्टीबैगर स्टॉक के बारे में विस्तार से समझेंगे। जिसमें शामिल होगा मल्टीबैगर स्टॉक क्या होता है
(Multibagger Stocks Jankari in Hindi) और मल्टीबैगर स्टॉक कैसे चुने। तो दोस्तों, स्टॉक मार्केट के इस दिलचस्प आर्टिकल के साथ में बने रहिए।

मल्टीबैगर स्टॉक क्या होता हैं | What is Multibagger Stock in Hindi

मल्टीबैगर स्टॉक को सबसे पहले मिस्टर पीटर लिंच की पुस्तक ‘वन अप ऑन वॉल स्ट्रीट’ में प्रयोग किया गया था। ये किताब इन्वेस्टिंग के बारें में बहुत कुछ सिखाती हैं जिसे हर एक निवेशक को जरूर पढ़ना चाहिए।

बिलकुल आसान भाषा में समझा जाएं तो मल्टीबैगर स्टॉक वो स्टॉक होते हैं जो निवेशित राशि पर 1 गुना या अधिक रिटर्न बनाकर देते हैं। यह रिटर्न बहुत ही कम समय में बनता हैं। इसलिए कम समय में बहुत अधिक रिटर्न देने वाले स्टॉक्स को मल्टीबैगर रिटर्न स्टॉक कहा जाता है।

उदाहरण के लिए जैसे कि आपने ₹100 का एक शेयर खरीदा जो कि साल भर के अंदर ₹300 का हो जाता है तो ये स्टॉक  3X मल्टीबैगर माना जाएगा। स्टॉक जितने फोल्ड रिटर्न बनाकर देता है उसके अनुसार स्टॉक के मल्टीबैगर तय होते हैं जैसे कि 2X मल्टीबैगर, 3X मल्टीबैगर, 4X  मल्टीबैगर।

इस प्रकार ऐसे शेयर जो अपने मूल निवेश पर कई गुना रिटर्न बनाकर देते हैं उन्हें मल्टीबैगर स्टॉक कहा जाता हैं।

मल्टीबैगर स्टॉक के उदाहरण

भारत में कई ऐसे स्टॉक्स हैं जो अपने निवेशकों को बहुत ही कम समय में मल्टीबैगर रिटर्न बनाकर दे चुके हैं। इनमें से कुछ Multibagger Stocks निम्न प्रकार हैं –

  1. मिर्ज़ा इंटरनेशनल –  इस कंपनी का स्टॉक एक वर्ष में ₹ 62 से ₹357 तक चढ़ चुका हैं। इस तरह स्टॉक ने 6X के रिटर्न बनाकर दिए हैं।
  2. अडानी ग्रीन – अडानी ग्रुप का ये शेयर पिछले 3 वर्ष में ₹ 86 से ₹ 2880 तक का हाई बना चुका हैं। यदि कोई निवेशक इस शेयर में 3 वर्ष से अधिक तक निवेशित रह गया होता तो उसे जबरदस्त मल्टीबैगर रिटर्न देखने को मिलते।
  3. Baroda Rayon Corporation Ltd – इस कंपनी के शेयर ने 2022 में ₹ 4 से ₹ 329 के लेवल टच किये जो की एक आउटस्टैंडिंग रिटर्न्स हैं। मतलब की किसी ने ₹ 1 लाख इन्वेस्ट किये होते तो उनकी वैल्यू एक साल के अंदर ₹ 82 लाख से भी अधिक हो जाती हैं।
  4. Ambar Protein Industries Ltd – ये स्टॉक भी एक मल्टीबैगर स्टॉक साबित हुआ हैं जिसने एक साल के भीतर ₹ 18 से ₹ 843 का आंकड़ा छुआ हैं।
  5. Regency Ceramics Ltd – इस कंपनी का स्टॉक भी एक साल के अंदर ₹ 1.90 से ₹ 41.75 तक पहुंच चुका हैं।

इस प्रकार भारतीय शेयर बाजार में कई स्टॉक है जो की अपने निवेशकों को मल्टीबैगर रिटर्न बनाकर दे चुके हैं। ऊपर बताये गए स्टॉक सिर्फ आपकी जानकारी हेतु बताये गए हैं कृपया इन्हें कोई स्टॉक रिकमेन्डेशन न समझे।

मल्टीबैगर स्टॉक कैसे चुने

अब बात करते हैं मल्टीबैगर स्टॉक कैसे चुने। मल्टीबैगर स्टॉक चुनना इतना भी आसान नहीं है क्योंकि मल्टीबैगर स्टॉक चुनने के लिए आपको कई चीजें देखनी होती है जिसमें कई बार आपका दांव उल्टा भी पड़ सकता है।

क्योंकि अधिकतर वही कंपनी आपको मल्टीबैगर रिटर्न्स बनाकर देती है जो की साइज में छोटी होती है या थोड़ी नई कंपनियां होती है। इस प्रकार की कंपनियों में बहुत ज्यादा रिस्क मौजूद होती है जिसमें या तो आपका पैसा बहुत ज्यादा तेजी से बढ़ता है या आपको बहुत अधिक नुकसान हो सकता है।

चलिए फिर भी मैं आपको कुछ टिप्स बताता हूं जिसकी मदद से आप मल्टीबैगर स्टॉक की पहचान कर सकते हैं।

1. अविकसित इंडस्ट्री की पहचान करें

यदि आप मल्टीबैगर स्टॉक चुनना चाहते हैं तो आप एक अविकसित इंडस्ट्री की पहचान कर सकते हैं। ऐसा मार्केट जो कि अपने शुरुआती स्टेज में है और कोई कंपनी उस मार्केट में काम कर रही है तो उम्मीद की जा सकती है कि वह कंपनी काफी तेजी से ग्रो हो सकती है।

अगर आप किसी विकसित मार्केट में इन्वेस्ट करते हो तो वहां निवेश करने पर आपको एक स्टेबल रिटर्न मिलेंगे। लेकिन किसी अंडर पेनिट्रेटेड मार्केट में इन्वेस्ट करने से आपको अच्छे रिटर्न मिलने की संभावनाएं काफी अधिक हो जाती है जैसे कि इंश्योरेंस सेक्टर या EV सेक्टर।

इस प्रकार यदि आप ऐसी कंपनी खोजने में कामयाब रहते हैं और क्वालिटी कंपनी में इन्वेस्ट करते हैं तो मल्टीबैगर रिटर्न मिलने की संभावनाएं बढ़ जाती है। लेकिन साथ ही इस प्रकार की कंपनियों में जोखिम भी बहुत ज्यादा होती हैं।

2. P/E रेश्यो देखें

मल्टीबैगर स्टॉक ढूंढने में P/E रेश्यो काफी महत्वपूर्ण होता है। P/E रेश्यो हमें बताता है कि कंपनी का शेयर अपनी अर्निंग के मुकाबले कितने गुना पर ट्रेड हो रहा है।

आपको मल्टीबैगर स्टॉक ढूंढने के लिए ऐसे स्टॉक को चुनना चाहिए जिसका P/E रेश्यो थोड़ा कम हो। यदि पहले से ही P/E रेश्यो बहुत ज्यादा होगा तो उसमें ग्रोथ की संभावनाएं वैसे ही कम हो जाएगी। क्योंकि वह शेयर आपको हाई वैल्यूएशन पर मिल रहा होगा।

मल्टीबैगर स्टॉक खोजने के लिए P/E रेश्यो 20 से कम हो तो यह अच्छा विकल्प हो सकता है। लेकिन दोस्तों केवल P/E रेश्यो देखकर ही एक मल्टीबैगर स्टॉक नहीं खोजा जा सकता। आपको अन्य सभी महत्वपूर्ण पॉइंट्स साथ में लेकर चलने होते हैं जिससे कि आप एक सही स्टॉक का चुनाव कर सकें।

3. कंपनी का EPS और प्रॉफिट ग्रोथ देखें

मल्टीबैगर स्टॉक चुनने में कंपनी का ईपीएस और प्रॉफिट ग्रोथ काफी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है। जिस भी कंपनी को आप सलेक्ट करना चाह रहे हैं तो उसमें चेक करें कि कंपनी का ईपीएस लगातार बढ़ रहा है या नहीं।

यदि कंपनी का ईपीएस यानि की अर्निंग पर शेयर डाउन ट्रेंड में है तो वह कंपनी निवेश के हिसाब से अच्छी नहीं मानी जाती है। लेकिन EPS बढ़ते हुए ट्रेंड में है तो ये एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

साथ ही आपको कंपनी की प्रॉफिट ग्रोथ भी देखनी चाहिए कि क्या कंपनी अपने प्रॉफिट को निरंतर रूप से बड़ा पा रही है या नहीं। EPS और प्रॉफिट ग्रोथ आपको किसी भी स्टॉक रिसर्च वेब साइट से आसानी से मिल जाएंगे।

4. कंपनी की रेवेन्यू ग्रोथ चेक करें

यदि कोई कंपनी अपनी रिवेन्यू को एक अच्छे रेट से बढ़ा रही है तो यह उम्मीद की जा सकती है कि उसका शेयर भी अच्छा परफॉर्म करेगा। इसलिए कंपनी की रिवेन्यू या सेल्स का लगातार बढ़ना जरूरी है तभी वह स्टॉक आगे जाकर मल्टीबैगर रिटर्न दे सकता है।

यदि सेल्स में लगातार गिरावट आ रही है तो उसे स्टॉक में कुछ प्रॉब्लम है जिसकी वजह से उसकी सेल्स लगातार डाउन हो रही है।

5. कंपनी पर ऋण (Debt to Equity)

किसी कंपनी के ऊपर कर्ज एक ऐसी दीमक होता है जो कि एक अच्छी कंपनी को भी आसानी से खत्म कर सकता है। इसलिए यदि आप एक मल्टीबैगर रिटर्न्स वाले स्टॉक को चुनना चाहते हैं तो आपको ऐसी कंपनी का चुनाव करना चाहिए जिसके ऊपर कर्ज का बोझ कम से कम हो।

वैसे डेब्ट टू इक्विटी रेशों 1 से नीचे होना चाहिए। लेकिन यदि आप एक मल्टीफोल्ड रिटर्न देने वाले स्टॉक को चुना जाते हैं तो आप 0.30 से कम डेब्ट टू इक्विटी रेशों वाली कंपनी का ही चुनाव कर सकते हैं। इससे कंपनी कम ब्याज का भुगतान करेंगी जिससे प्रॉफिट ज्यादा डाउन नहीं होगा।

6. कंपनी के मैनेजमेंट को देखें

कोई भी कंपनी जब तक अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पायेगी जब तक उसका मैनेजमेंट क्लियर और अच्छी छवि वाला नहीं होगा। इसलिए मल्टीबैगर स्टॉक चुनते समय आपको कंपनी के मैनेजमेंट के बारें में सही जानकारी प्राप्त करनी चाहिए।

मैनेजमेंट के बारें में सही जानकारी प्राप्त करना सबसे मुश्किल काम होता हैं। इसे आप गूगल, con calls और एनुअल रिपोर्ट से प्राप्त कर सकते हैं। आप मैनेजमेंट के व्यक्तियों के बारें में उनके अनुभव, योग्यताएं और पुराना ट्रैक रिकॉर्ड चेक कर सकते हैं।

तो कुल मिलाकर आप ऊपर दिए पॉइंट्स की मदद से एक अच्छा मल्टीबैगर स्टॉक चुन सकते हैं। हालांकि इनके अतिरिक्त भी अनेक छोटे-मोटे पॉइंट होते हैं जिन्हें आप धीरे-धीरे अनुभव से सीख जाएंगे।

निष्कर्ष

निष्कर्षतः बात की जाये तो मल्टीबैगर स्टॉक एक ऐसा स्टॉक होता हैं जो आपको कम समय में मल्टीफोल्ड रिटर्न बनाकर देता हैं। ये रिटर्न एक गुना या अधिक हो सकते हैं।

लेकिन मल्टीबैगर स्टॉक का चुनाव करते समय आपको थोड़ा अतिरिक्त सावधानी बरतने की आवश्यकता हैं। क्योंकि जहाँ अधिक रिटर्न की आशा की जाती हैं वहां रिस्क भी बहुत अधिक होता हैं। यदि आपने मल्टीबैगर रिटर्न्स की आशा में किसी बेकार स्टॉक में निवेश कर दिया तो आपको भारी नुकसान भी हो सकता हैं।

इसलिए हमेशा सोच-समझकर अपने निवेश निर्णय ले।

FAQ

  1. मल्टीबैगर शेयर का मतलब क्या होता है?

    मल्टीबैगर स्टॉक का सबसे पहले प्रयोग पीटर लिंच की पुस्तक “वन अपॉन वॉल स्ट्रीट” में किया गया था। मल्टीबैगर स्टॉक वो होता हैं जो कम समय में मल्टीफोल्ड रिटर्न बनाकर देता हैं।

  2. मल्टीबैगर स्टॉक कैसे ढूंढे?

    आप किसी भी स्क्रीनर की मदद से अच्छे क्वालिटी और सस्ते शेयर्स को ढूंढ सकते हैं।

Leave a Reply

Punji Guide