PPF अकाउंट क्या हैं | कम जोखिम के साथ बढ़िया रिटर्न

अगर मौजूदा समय में आप कहीं निवेश करना चाहते हैं तो आपके पास कई अच्छे विकल्प मौजूद हैं। PPF भी उन्हीं विकल्पों में से एक है। PPF अपनी कुछ अलग विशेषताओं के कारण बहुत लोकप्रिय निवेश है।

सरकार की योजना होने के कारण निवेश की सम्पूर्ण सुरक्षा की गारंटी होती हैं। PPF से संबंधित कई महत्वपूर्ण सवाल जैसे कि PPF Account क्या हैं (PPF in Hindi) , PPF account कैसे खुलवाएं , PPF टैक्स बेनिफिट्स का जवाब आज आपको इस आर्टिकल के माध्यम से मिल जाएगा।

साथ ही में मैं आपको PPF खाते पर ज्यादा ब्याज कमाने के लिए एक बोनस टिप भी दूंगा।

PPF अकाउंट क्या हैं (What is PPF Account in Hindi)

PPF यानि पब्लिक प्रोविडेंट फंड। भारत सरकार द्वारा नागरिकों में बचत की आदत डालने और रिटायरमेंट प्लानिंग के उद्देश्य से PPF योजना लाई गई थी।

PPF Account एक ऐसा अकाउंट है जिसमे आप अपने सामर्थ्य के अनुसार पैसा डालते हैं और एक निश्चित समय पर अपना पैसा वापस निकाल सकते हैं। यह एक लोंग टर्म इन्वेस्टमेंट स्कीम है। PPF आपको टैक्स सेविंग के साथ-साथ आकर्षक ब्याज भी देता हैं।

इस प्रकार PPF अकाउंट के माध्यम से रिटायरमेंट प्लानिंग, टैक्स सेविंग बिना किसी रिस्क के की जा सकती हैं। 

PPF अकाउंट कौन खुलवा सकता हैं (Who can open PPF Account)

PPF Account किसी भी भारतीय नागरिक द्वारा खुलवाया जा सकता है। PPF Account खुलवाने के लिए उम्र की कोई बाध्यता नहीं है। हालांकि HUF (Hindu undivided family) अपने नाम से PPF का Account नहीं खुलवा सकता।

किसी अव्यस्क (minor) के लिए भी PPF खाता खुलवाया जा सकता है। Minor के खाते में अधिकतम स्वयं और माइनर के मिलाकर डेढ़ लाख रुपए जमा कराए जा सकते हैं। Minor का खाता उसके संरक्षक द्वारा संचालित किया जायेगा।

पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड में जॉइंट अकाउंट का विकल्प मौजूद नहीं हैं। अतः आप PPF में संयुक्त खाता नहीं खुलवा सकते हैं। अगर कोई N.R.I भी नया PPF Account खुलवाना चाहता है तो वह नया PPF Account नहीं खुलवा सकता हैं।

PPF Account कहां खुलवाएं?

आप PPF Account बैंक या पोस्ट ऑफिस किसी भी माध्यम से खुलवा सकते हैं। आजकल कई बड़े बैंक (ICICI, SBI आदि) आपको ऑनलाइन सुविधा देते हैं जिससे आप बिना किसी परेशानी के P.P.F का Account खुलवा सकते हैं। आप अपने PPF खाते को एक बैंक से दूसरे बैंक या डाकघर में स्थानांतरित भी करवा सकते हैं।

PPF स्कीम में खाता खुलवाने के लिए निम्न डॉक्यूमेंट की आवश्यकता होती हैं-

  • पहचान पत्र के रूप में आधार Voter ID ड्राइविंग लाइसेंस, AADHAR Card आदि
  • पैन कार्ड (Pan Card)
  • रेजिडेंशियल ऐड्रेस प्रूफ
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • नॉमिनी फॉर्म (Nominee Form)

PPF Account पर ब्याज (Interest rate on PPF)

भारत सरकार द्वारा PPF पर ब्याज की दर प्रत्येक तिमाही में बदली जाती है। इसमें मिलने वाला ब्याज वार्षिक रूप से कंपाउंड (annualy compunded) होता हैं। वर्तमान तिमाही के लिए PPF पर ब्याज की दर 7.1% है। भारत सरकार का उद्देश्य PPF पर रेगुलर सेविंग अकाउंट से ज्यादा ब्याज देने का है। हालांकि PPF का ब्याज वित्त वर्ष की समाप्ति पर ही क्रेडिट किया जाता है।

PPF Account में निवेश की सीमा

आप PPF Account ₹100 से चालू करवा सकते हैं। परंतु आपको न्यूनतम ₹500 हर वर्ष PPF Account में जमा कराने होते हैं।

PPF खाते में 1 वर्ष में अधिकतम ₹1,50,000 जमा किए जा सकते हैं। यह ₹1,50,000 एकमुश्त भी जमा किए जा सकते हैं। अगर आप चाहे तो PPF Account में ₹1,50,000 से ज्यादा जमा करा सकते हैं परंतु अतिरिक्त राशि पर आपको कोई टैक्स बेनिफिट नहीं मिलेगा।

पहले के नियमों के अनुसार आप पीपीएफ खाते में पूरे वर्ष में अधिकतम 12 बार ही पैसे जमा करा सकते थे। परंतु अब नए नियमों के अनुसार आप कितनी भी बार खाते में पैसे डाल सकते हैं यानि खाते में रोज़ भी पैसे डाल सकते हैं। PPF अकाउंट में पैसे कैश, ऑनलाइन, चेक या डिमांड ड्राफ्ट के माध्यम से जमा करवाए जा सकते हैं।

निष्क्रिय पीपीएफ खाते को कैसे सक्रिय करें?

अगर किसी वर्ष में आप अपने पीपीएफ खाते में न्यूनतम राशि जमा नहीं करवा पाते हो तो उस वर्ष के लिए आपको PPF अकाउंट पर ब्याज नहीं मिलेगा और अकाउंट निष्क्रिय हो जायेगा। साथ ही अकाउंट को वापस चालू करवाने के लिए न्यूनतम ₹500 और ₹50 की पेनल्टी जमा करवानी होती हैं।  

Inactive PPF खाते को फिर से एक्टिव करने के लिए, आप नीचे दिए गए चरणों का पालन कर सकते हैं –

  1. बैंक या पोस्ट ऑफिस शाखा को Inactive PPF खाते को फिर से एक्टिव करने के लिए एप्लीकेशन लिखें। 
  2. प्रत्येक वर्ष के लिए ₹500 रुपये की न्यूनतम राशि का भुगतान करें जिसमें आपने कोई योगदान नहीं दिया हैं। साथ ही ₹50 प्रति निष्क्रिय वर्ष का जुर्माना भी जमा करवाना होगा। जैसे की 3 वर्ष न्यूनतम राशि जमा नहीं करवाने पर ₹150 पेनल्टी देनी होगी। 
  3. बैंक या पीओ आपके अनुरोध को प्रोसेस करेगा और खाते को पुनः सक्रिय करेगा।

PPF में समयपूर्व निकासी

सामान्यतः PPF की मैच्योरिटी 15 वर्ष पश्चात ही होती है। अगर आप लंबे समय तक निवेश कर सकते हैं तभी आपको पीपीएफ़ में निवेश करना चाहिए।

मेच्योरिटी से पहले पैसा निकलवाने के लिए जिस वित्त वर्ष में PPF अकाउंट खुलवाया हैं उसके अंत से पीपीएफ खाता खुलवाए न्यूनतम 5 वर्ष होने आवश्यक हैं। 

अगर आपको PPF अकाउंट से कुछ पैसा निकालना हैं तो आपने जिस वर्ष खाता खुलवाया हैं उसके अंत से 5 वर्ष बाद पैसा निकाल सकते हैं। इसका मतलब की आप 7 वें वर्ष से कुछ धनराशि निकाल सकते हैं। उदाहरण के लिए आपने दिसंबर 2021 में पीपीएफ़ खाता खोला हैं तो आप 1 अप्रैल 2027 से पैसा निकाल सकते हैं।

अधिकतम निकाली जाने वाली राशि इन दोनों में जो भी कम होगा वह होगी –

  • वर्तमान वर्ष से पिछले वित्तीय वर्ष (F/Y) के अंत तक PPF अकाउंट का 50% बैलेंस, या
  • चौथे वित्तीय वर्ष के अंत में मौजदू PPF बैलेंस का 50%.   

एक वित्त वर्ष में मात्र एक बार समयपूर्व निकासी की जा सकती हैं। समयपूर्व निकासी के लिए आपको Form-2 अपने पोस्ट ऑफिस या बैंक में जमा करना होता हैं। 

ये भी पढ़े –

परिपक्वता (Maturity) 

PPF account जिस वित्तीय वर्ष में खोला जाता हैं उस वित्तीय वर्ष की समाप्ति से 15 वर्ष बाद PPF स्कीम परिपक्व (mature) होती हैं। उदाहरण के लिए आपने 21 जुलाई 2021 को अपना PPF खाता खोला हैं। इस स्थिति में आपका पीपीएफ़ खाता 01 अप्रैल 2022 से गिना जायेगा जिसकी maturity होगी 31 मार्च 2037.

मैच्योरिटी पर निवेशक के पास क्या विकल्प रहते है आप इस टेबल के माध्यम से समझ सकते हैं –

1. PPF Account बंद करे  सम्पूर्ण राशि निकाल सकते हैं 
2.  PPF extension with contribution PPF में maturity पर जमा राशि का 60% निकाल सकते हैं  वर्ष में सिर्फ एक बार पैसा निकाल सकते हैं 
3.  PPF extension without contribution पैसा निकालने पर कोई पाबंधी नहीं वर्ष में सिर्फ एक बार पैसा निकाल सकते हैं 

यहां पर ध्यान देने योग्य बात हैं की 15 वर्ष की समाप्ति पर अगर आप अपने बैंक को या पोस्ट ऑफिस को अपने PPF के बारे में सूचित नहीं करेंगे तो ये विकल्प 3 में स्वतः आ जायेगा। कहने का मतलब हैं की आपका PPF खाता 5 वर्ष के लिए एक्सटेंड हो जायेगा जिसमें आप एक वर्ष में बिना कोई सीमा के पैसे निकाल सकते हैं। 

PPF खाता बंद करना (How to close PPF Account) 

अकाउंट बंद करने के लिए PPF अकाउंट खुलवाने के वर्ष के अंत से न्यूनतम 5 वर्ष होना समाप्त होने आवश्यक है। अगर पीपीएफ अकाउंट को मेच्योरिटी से पूर्व बंद किया जाता हैं तो 1% पेनल्टी देनी पड़ती हैं जो मिलने वाले interest में से काटी जाती हैं।

आप अपने PPF account को समय से पहले भी बंद करवा सकते हैं जो निम्न तीन कंडीशन में होगा-

  • Higher Education के लिए (स्वयं या बच्चों की)
  • परिवार में किसी सदस्य के Serious illness की स्थिति में  (अकाउंट होल्डर, स्पाउस, बच्चे या पेरेंट्स)
  • अकाउंट होल्डर के NRI हो जाने की स्थिति में 

इन सब परिस्थितियों में आपको आवश्यक दस्तावेज जमा करवाने होते हैं।

क्या PPF निवेश की अवधि बढ़ाई जा सकती हैं?

अगर कोई व्यक्ति PPF में 15 साल से ज्यादा समय के लिए निवेश करना चाहता है तो वह ऐसा कर सकता है। यह निवेश अवधि 5 वर्ष के क्रम में बढ़ाई जा सकती है जैसे कि 20 वर्ष, 25 वर्ष, 30 वर्ष।

यहां 15 साल में जमा राशि वर्ष में एक बार निकलवाई जा सकती है। यानि आप चाहे तो 15 वर्ष में जमा सम्पूर्ण राशि एक साथ निकलवा सकते हैं साथ ही अपना PPF Account चालू भी रख सकते हैं। अगर आप पीपीएफ़ को 15 वर्ष बाद भी जारी रखने का फ़ैसला करते है तो यहां आपको एक ओर फायदा मिलेगा। आप आगे बिना पैसे जमा कराए भी पहले से जमा पैसे पर interest का फायदा ले सकते हैं।

ppf account calculator ppf kya hai

नामांकन सुविधा (Nominee Facility)

PPF Account खुलवाने के समय आपको एक नामांकन फॉर्म (nominee form) भरना होता है। इसमें खाताधारक को अपने नॉमिनी के बारे में जानकारी देनी होती है।

खाताधारक की मृत्यु की स्थिति में नॉमिनी PPF खाते की समस्त राशि का हकदार होता हैं। इसलिए PPF स्कीम में खाता खुलवाते समय नॉमिनी फॉर्म अवश्य भरें।  

अगर आपका पहले से PPF खाता हैं तो आप बाद में भी नॉमिनी ऐड कर सकते हैं। आप नॉमिनी फॉर्म भरकर अपने बैंक में जमा करवा सकते हैं। कुछ बैंकों के नॉमिनी फॉर्म –

Loan की सुविधा 

PPF Account अपने इन्वेस्टमेंट अकाउंट पर लोन की सुविधा भी देता है। यह लोन PPF Account खुलवाने के तीसरे वित्त वर्ष से छठे वित्त वर्ष की समाप्ति तक लिया जा सकता है। लोन की राशि पीपीएफ अकाउंट में जमा राशि के 25% से अधिक नहीं हो सकती। यानी अगर आपके PPF में 1,00,000 रूपये जमा है तो आपको अधिकतम 25,000 का ही लोन मिल सकता हैं।

वर्तमान में लोन पर लगने वाला ब्याज 1% है। इसका मतलब हुआ की PPF interest rate के अतिरिक्त 1% ब्याज का भुगतान करना होता हैं। अगर वर्तमान में PPF अकाउंट पर 7.1% का ब्याज मिलता हैं तो आपका लोन आपको 8.1% के ब्याज पर पड़ेगा।   

PPF खाते पर लोन की सुविधा इस निवेश को ओर अधिक आकर्षक बनाता है। 

PPF टैक्स बेनिफिट (PPF Tax Benefits) 

आपके द्वारा P.P.F में किया गया निवेश इनकम टैक्स की धारा 80(c) के अंतर्गत डेढ़ लाख रुपए तक के निवेश पर छूट (exemption) प्रदान करता है।

P.P.F में अगर आप spouse या बच्चों के नाम से भी निवेश करते हैं तो भी आप 80(c) में छूट प्राप्त कर सकते हैं। PPF निवेश exempt, exempt, exempt की कैटेगरी में आता है। इसका मतलब हैं की आपके द्वारा जमा राशि, कमाया गया interest और सम्पूर्ण maturity की राशि टैक्स फ्री होती है। अर्थात आपको इनके ऊपर कोई टैक्स नहीं देना होता है।

इस प्रकार PPF आपको प्रति वर्ष टैक्स बेनिफिट तो प्रदान करता ही हैं साथ ही इस पर मिलने वाला ब्याज भी कर मुक्त होता हैं।  

दिवालिया (Bankrupt) होने की स्थिति में

आमतौर पर अगर कोई व्यक्ति दिवालिया हो जाता है तो कोर्ट उसकी समस्त संपत्ति अटैच कर सकता है। इन संपत्तियों का उपयोग ऋणों की वसूली के लिए किया जाता है। इन अटैच की गई सम्पतियों में मकान, shares, म्यूच्यूअल फंड्स हो सकते हैं। परंतु कोर्ट किसी के PPF Account को अटैच नहीं कर सकता है।

कहने का मतलब है की PPF अकाउंट में जमा राशि पर खाताधारक का प्रत्येक स्थिति में अधिकार रहेगा। ये खूबी इसे अन्य निवेश विकल्पों से अलग बनाती हैं।   

बोनस टिप 

किसी भी पीपीएफ़ खाते में ब्याज की गणना प्रत्येक महीने की 5 तारीख और महीने की आखिरी तारीख के मध्य होती है। इसलिए आपको अपना योगदान (ppf contribution) प्रत्येक महीने की 5 तारीख से पहले कर देना चाहिए।

इससे आपके खाते में compounding interest ज्यादा होगा और आप ज्यादा ब्याज कमा पाएंगे। इस प्रकार आप एक छोटी सी टिप अपनाकर ज्यादा फायदा कमा सकते हैं। 

निष्कर्ष

PPF Account अपनी बेहतरीन खूबियों के कारण अत्यधिक लोकप्रिय है। अच्छे रिटर्न, जीरो जोखिम और tax benefits के कारण PPF एक बेहतरीन निवेश बन जाता है।

अगर आप भी एक लॉन्ग टर्म निवेश की तरफ देख रहे हैं जिसमें आप बिना किसी जोखिम के रिटायरमेंट प्लानिंग करना चाहते हैं तो PPF इन्वेस्टमेंट आपके लिए एक बेहतरीन विकल्प हो सकता हैं। 

साथ ही अगर आप कुछ रिस्की इन्वेस्टमेंट विकल्पों में निवेश करते हैं तो आप अपने पोर्टफोलियो को विविधता प्रदान करने के लिए भी PPF में इन्वेस्ट कर सकते हैं।  

अगर आपको PPF Account से संबंधित कोई भी सवाल हो तो हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते हैं। Happy Investing !

Leave a Reply

upstox banner
Punji Guide