ULIP Plan क्या हैं? निवेश और जीवन बीमा एक साथ

कैसा होगा अगर आपके द्वारा निवेश की गई राशि पर कैपिटल इजाफ़े के साथ-साथ इंश्योरेंस भी प्राप्त हो। ULIP Plan आपको इन्वेस्टमेंट के साथ में इंश्योरेंस की सुविधा भी देता है। यूलिप स्कीम बीमा कंपनी द्वारा पेशकश एक ऐसा प्लान है जो आपके वित्तीय लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए कार्य करता है। वर्तमान में सैकड़ों ULIP Scheme हैं, जिन्हें आप अपनी जरूरतों एवं गोल के हिसाब से चुन सकते हैं।

दोस्तों अगर आप भी ULIP Plan में निवेश करने के बारे में सोच रहे हैं तो आप बिल्कुल सही आर्टिकल पर हैं। आज आपको अपने ULIP से संबंधित सभी सवालों का जवाब इस आर्टिकल के माध्यम से मिल जाएगा।

और हाँ, इस आर्टिकल के अंत में मैं अपनी राय बताऊंगा की क्या आपको ULIP में निवेश करना चाहिए या नहीं।

ULIP Plan क्या हैं? (What is ULIP Plan in Hindi)

ये मुख्य रूप से भारत में उपलब्ध उत्पाद हैं। भारत में सबसे पहला ULIP यूटीआई (UTI) द्वारा पेशकश किया गया था।
ULIP Meaning in HindiULIP की फुल फॉर्म होती हैं Unit Linked Insurance Plan. ULIP में दो टर्म हैं पहला यूनिट लिंक्ड। इसमें आपका मुख्य निवेश रहता हैं। आप इसे म्यूच्यूअल फण्ड निवेश की तरह से समझ सकते हैं। इसमें यूनिट होती हैं और उस यूनिट की कीमत NAV के आधार पर तय की जाती हैं। आपके द्वारा किया निवेश स्टॉक मार्केट और बांड्स में निवेश किया जाता हैं।

दूसरा टर्म है इंश्योरेंस प्लान। इसमें आपके द्वारा किए गए इन्वेस्टमेंट में से कुछ राशि आपके इंश्योरेंस के लिए जाती है। यह इन्वेस्टमेंट आपको जीवन बीमा की सुरक्षा प्रदान करता हैं।

इस प्रकार ULIP में इन्वेस्टमेंट के साथ-साथ जीवन बीमा की सुविधा भी प्राप्त होती हैं।

ULIP Plan मुख्य फीचर्स (संक्षिप्त में)

  • यह आपको निवेश के साथ-साथ जीवन बीमा (Life cover) की सुविधा भी उपलब्ध करवाता हैं।
  • ULIP का प्रीमियम टैक्स छूट के लिए प्रयोग किया जा सकता हैं तथा इसकी Maturity टैक्स फ्री होती हैं।
  • फण्ड स्विच की सुविधा उपलब्ध हैं।
  • यह आपके लॉन्ग टर्म लक्ष्यों की प्राप्ति में सहायक हो सकता हैं जैसे की घर लेना, बच्चों की शिक्षा, कार ख़रीदना आदि।
  • यह आपके निवेश को स्टॉक मार्केट का एक्सपोज़र भी प्रदान करता हैं।

ULIP कैसे काम करता हैं? (How ULIP works)

जब भी आपका ULIP Plan में प्रीमियम जाता है तो उसमें से सभी यूलिप चार्जेस और आपके इंश्योरेंस संबंधित पैसा काटकर बाकी राशि निवेश कर दी जाती है। इसमें आपकी निवेशित राशि पर करंट NAV के आधार पर यूनिट आवंटित की जाती हैं।

माना कि आपका यूलिप का प्रीमियम ₹10,000 है। इसमें से ₹500 ULIP चार्जेस काटकर बाकी ₹9,500 निवेश कर दिए गए हैं। अगर इस फंड का वर्तमान NAV ₹95 हैं तो आपको इस यूलिप प्लान के लिए 9500/95 = 100 यूनिट प्राप्त होगी।

ULIP में निवेश के क्या विकल्प हैं?

ULIP Plan में आपके प्रीमियम की राशि को तीन प्रकार से निवेश किया जा सकता हैं।

1. Equity Funds – अगर आप निवेशक के तौर पर ज्यादा रिस्क ले सकते हैं तो आप अपना इन्वेस्टमेंट इक्विटी में कर सकते हैं। इक्विटी में निवेशक का संपूर्ण पैसा स्टॉक मार्केट में निवेश होता है।

इक्विटी फंड्स हाई रिस्क और हाई रिटर्न के फार्मूले पर काम करते हैं। अगर आप कम उम्र के निवेशक हैं तो इक्विटी फंड्स आपके लिए अच्छा विकल्प हो सकता हैं।

2. Debt Fundsयूलिप प्लान में आपके पास अपना प्रीमियम डेब्ट फंड्स में भी निवेश करने का विकल्प मौजूद रहता है। डेब्ट फंड फिक्स्ड इंटरेस्ट रेट के साथ आते हैं, इसलिए इनमे बहुत कम रिस्क होता है।

कम रिस्क होने के कारण इनमें रिटर्न देने की भी क्षमता कम रहती है। इनका रिटर्न इक्विटी के मुकाबले कम रहता हैं। जिन निवेशकों की उम्र ज्यादा है वह डेब्ट फंड का चुनाव कर सकते हैं।

3. Balanced Fundsइक्विटी फंड्स और डेब्ट फंड्स का संयोजन बैलेंस्ड फण्ड होता हैं। इसमें निवेशक दोनों का एक्सपोज़र लेकर एक संतुलित पोर्टफोलियो बना सकता हैं।

ULIP में लॉक-इन-पीरियड कितना होता हैं?

अधिकांश ULIP Policy 5 वर्ष के लॉक-इन-पीरियड के साथ आती हैं। 2010 से पहले ये अवधि मात्र 3 वर्ष थी। परन्तु 2010 में IRDA ने लॉक-इन-अवधि को बढ़ाकर 5 साल कर दिया।

लॉक-इन-पीरियड समाप्त होने से पहले ULIP को बंद करने पर क्या होगा?

अगर आप चाहे तो 5 वर्ष की समाप्ति से पूर्व ही अपनी ULIP Policy को बंद कर सकते हैं। ऐसा करने पर आपका फण्ड Discontinue Fund (DP) में चला जायेगा। समयपूर्व प्लान बंद करने पर राशि आपके अकाउंट में जमा हुई हैं उस पर मात्र 4% दर से ब्याज का भुगतान किया जायेगा। यह रेट IRDA की गाइड लाइन्स के अनुसार हैं जिसमे परिवर्तन संभव हैं।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह हैं की ULIP Plan को 5 वर्ष पूर्व बंद कर देने पर भी आप अपनी राशि 5 वर्ष की समाप्ति के बाद ही निकाल सकते हो।

ULIP Tax Benefits

ULIP Plan में अच्छे टैक्स बेनिफिट्स उपलब्ध हैं। म्यूच्यूअल फण्ड में कैपिटल गेन टैक्स लगता हैं परन्तु ULIP में कोई कैपिटल गेन टैक्स नहीं देना पड़ता।

  1. ULIP में किये गए प्रीमियम का भुगतान इनकम टैक्स की धारा 80(c) के अंतर्गत छूट योग्य हैं। इसमें आप ₹1,50,000 तक के निवेश पर छूट प्राप्त कर सकते हैं।
  2. Maturity पर मिलने वाली ULIP की राशि इनकम टैक्स के सेक्शन 10(10D) में पूरी तरह से कर मुक्त हैं। परन्तु Maturity पर छूट लेने के लिए आपके प्रीमियम की राशि Sum assured से 10% से कम होनी चाहिए।

इस प्रकार आपको ULIP प्लान में दो टैक्स बेनिफिट उपलब्ध हैं।

बजट 2021 में वित्त मंत्री ने टैक्स पैरिटी लाने के उदेश्य से amendment लाया हैं की एक वित्त वर्ष में ₹2.50 लाख से ज्यादा के प्रीमियम का भुगतान करने पर maturity पर मिलने वाला कैपिटल गेन करयोग्य (taxable) होगा। लेकिन इस बदलाव पर अभी स्पष्ट दिशानिर्देशों का अभाव हैं।

ये भी पढ़े – क्या Term Insurance Policy लेना जरूरी हैं?

ULIP Plans – Risk and Return

चूँकि ULIP में आपकी जमा राशि स्टॉक मार्केट और बांड्स में निवेश की जाती हैं, इसलिए आपका सम्पूर्ण रिटर्न इनके प्रदर्शन पर ही निर्भर करता हैं। स्टॉक मार्केट काफी अस्थिर हो सकता हैं इसलिए इसमें रिस्क ज्यादा रहती हैं।

आप कुछ ULIP स्कीम्स के पास्ट रिटर्न्स यहाँ देख सकते हैं – ULIP Returns

क्या ULIP में प्लान स्विच कर सकते हैं?

ULIP में फण्ड स्विच का विकल्प भी मौजूद हैं। अगर आपको किसी भी समय यह लग रहा हैं की आपका फण्ड सही प्रदर्शन नहीं कर रहा हैं तो आप अपने उसी ULIP कंपनी के दूसरे फण्ड में स्विच कर सकते हैं। अगर आपको किसी दूसरी कंपनी के ULIP स्कीम में जाना हैं तो इस स्थिति में आपको अपना प्लान सरेंडर करना होगा।

बहुत से ULIP आपको अनलिमिटेड स्विच की सुविधा देते हैं। परन्तु कुछ कंपनिया फ्री स्विच की एक निर्धारित सीमा रखती हैं। इस सीमा से अधिक बार स्विच विकल्प का प्रयोग करने पर ₹50 से 300 तक का शुल्क देना पड़ सकता हैं।

ULIP शुल्क (ULIP Plan Charges)

इस स्कीम में बहुत से शुल्क होते है जो की निवेशक से वसूल किये जाते हैं।

1. Fund Management Charges – इंश्योरन्स कंपनियों द्वारा ULIP फंड्स को मैनेज करने के लिए फण्ड मैनजमेंट चार्जेज लगाए जाते हैं। इसे आप म्यूच्यूअल फण्ड के एक्सपेंसेस रेश्यो की भांति समझ सकते हैं। यह शुल्क फण्ड वैल्यू का अधिकतम 1.35% वार्षिक हो सकता हैं।

2. Fund Switch Charges – कुछ कंपनिया फ्री फण्ड स्विच की सुविधा देती हैं तो कुछ कंपनिया स्विच के लिए शुल्क चार्ज करती हैं। यह फण्ड से फण्ड निर्भर करता हैं।

3. Premium Allocation Charge – यह निवेशक के प्रीमियम में से काटे जाने वाला फ्रंट लोड चार्ज होता हैं।

4. Partial Withdrawal Charge – कुछ यूलिप प्लान फ्री अनलिमिटेड withdrawal की सुविधा देते हैं जबकि कुछ इसके लिए निवेशकों से चार्ज वसूल करते हैं।

5. Mortality Charge – ULIP अकाउंट होल्डर को बीमाकर्ता द्वारा उसकी मृत्यु को Insurance कवर देने के लिए मोर्टेलिटी चार्ज वसूल किया जाता हैं। मोर्टेलिटी चार्ज एक निश्चित फॉर्मूले द्वारा निकाला जाता हैं। कम उम्र के व्यक्तिओं के लिए मोर्टेलिटी चार्ज कम रहता है जबकि ज्यादा उम्र के लोगों के लिए ज्यादा होता हैं।

6. Policy Administration Charges – यह चार्ज Policy Admn. के रूप में प्रत्येक महीने आपकी कुछ यूनिट्स को कम करके काटा जाता हैं। यह चार्ज किसी निश्चित दर पर हो सकता हैं या आपके प्रीमियम के कुछ प्रतिशत के रूप में हो सकता हैं।

ULIP से कितना Life Insurance प्राप्त होता हैं?

जैसा की आप जानते हैं ULIP एक Investment cum Insurance प्लान हैं। IRDA की गाइड लाइन्स के मुताबिक आपका लाइफ कवर (sum assured) आपके वार्षिक प्रीमियम के 10 गुना तो होगा ही। इसलिए अधिकतर बीमा कंपनियों द्वारा वार्षिक प्रीमियम का न्यूनतम 10 गुना Insurance cover ऑफर किया जाता हैं।

उदाहरण के लिए अगर आपने किसी यूलिप प्लान में वार्षिक ₹60,000 जमा करवाए हैं तो आपको कम से कम ₹6,00,000 का इंश्योरेंस कवर तो प्राप्त होगा ही।

Sum Assured वह राशि होती है जो अकाउंट होल्डर की मृत्यु पर उसके नॉमिनी को जीवन बीमा की राशि के रूप में प्राप्त होती हैं।

क्या ULIP में Partial Withdrawal किया जा सकता हैं?

अधिकांश यूलिप प्लान 5 वर्ष से पूर्व पार्शियल विड्रोल का विकल्प नहीं देते हैं। कुछ यूलिप प्लान 3 वर्ष बाद पार्शियल विड्रोल का विकल्प जरूर देते हैं लेकिन इस प्रकार की आंशिक निकासी पर शुल्क चार्ज किया जाता हैं।

5 वर्ष के लॉक-इन-पीरियड के बाद आप पार्शियल विड्रोल कर सकते हैं। कुछ प्लान अनलिमिटेड पार्शियल विड्रोल की सुविधा के साथ आते हैं और कुछ निश्चित।

नॉमिनी की सुविधा

ULIP प्लान में नॉमिनी की सुविधा होती हैं। इसे आपको ULIP Plan लेते समय तय करना होता हैं। अकाउंट होल्डर की मृत्यु की स्थिति में नॉमिनी सम्पूर्ण बीमा राशि और लाभों का हक़दार होता हैं।

ULIP कहाँ से ख़रीदे?

अगर आपने ULIP खरीदने का मन बना लिया हैं या खरीदने के बारे में सोच रहे हैं तो आप ULIP को सीधे किसी बीमा कंपनी की वेबसाइट से खरीद सकते हैं। अगर आप चाहे तो आप किसी एजेंट के माध्यम से भी ULIP Plan में निवेश कर सकते हैं।

निष्कर्ष – क्या ULIP में इन्वेस्ट करना चाहिए?

अगर आपका मुख्य उद्देश्य टैक्स बचाने के साथ-साथ जीवन बीमा भी लेना हैं तो आप ULIP Investment कर सकते हैं। अगर आपने टर्म प्लान ले रखा है तो मेरी राय में ULIP में निवेश करना आपके लिए फायदेमंद नहीं होगा। अगर आपने टर्म प्लान ले रखा हैं तो आप ULIP की बजाय निश्चित तौर पर म्यूच्यूअल फंड्स की ओर रुख कर सकते हैं।

टर्म प्लान में आपको कम प्रीमियम पर बहुत ज्यादा sum assured प्राप्त होता हैं। वहीँ ULIP में आपको जीवन बीमा के कारण रिटर्न्स के साथ थोड़ा समझौता करना पड़ता हैं (अतिरिक्त शुल्कों के कारण)।

ये भी पढ़े – Mutual Fund NAV क्या हैं? NAV के बारे में 3 गलतफहमियां

आज आपने समझा की ULIP Plan क्या हैं, ULIP meaning. इससे सम्बंधित अगर आपके कोई भी सवाल हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते हैं।

दोस्तों, अगर ये आर्टिकल आपको पसंद आया हो और ये जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो कृपया इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें।

डिस्क्लेमर- यह आर्टिकल कोई निवेश सलाह नहीं हैं, कुछ भी निवेश करने से पहले सही ढंग से रिसर्च करे या अपने फाइनेंसियल एडवाइजर से सलाह जरूर ले।

Leave a Reply

Punji Guide