भविष्य में बढ़ने वाले शेयर 2022

भविष्य में बढ़ने वाले शेयर 2022: दोस्तों, भारतीय स्टॉक मार्केट में हजारों कंपनियां लिस्टेड है। उसमें से लॉन्ग टर्म निवेश के लिए कुछ बेहतरीन कंपनियां चुनना काफी मुश्किल काम हो सकता है।

आपको अपने पोर्टफोलियो के लिए कुछ ऐसे शेयर चुनने चाहिए जिनमें आने वाले समय में काफी ग्रोथ की संभावना हो और उस इंडस्ट्री में स्लो डाउन होने के चांसेस थोड़े कम हो। स्टॉक मार्केट से पैसा कमाने का एक मूल मंत्र हैं की आप अच्छे और  क्वालिटी शेयर खरीदकर उनमें लम्बे समय तक इनवेस्टेड रहने का प्रयास करे।

इस आर्टिकल में मैं आपको भविष्य में बढ़ने वाले शेयर 2022 के हिसाब से बताऊंगा जिसमें आप निवेश के बारे में सोच सकते हैं। इनमें में कुछ सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाले शेयर साबित हो सकते हैं।

भविष्य में बढ़ने वाले शेयर 2022

आज मैं, आपको जो भी शेयर बताऊंगा वे सभी भविष्य में शानदार रिटर्न देने वाले शेयर हो सकते हैं, फिर चाहे आप 2022 के लिए सबसे बढ़िया शेयर लेना चाह रहे हो या 2025 के लिए या 2030 के लिए।

लेकिन मैं यहाँ जो भी शेयर्स बताने जा रहा हूँ, वो शॉर्ट टर्म के लिए बिलकुल भी नहीं हैं। यहाँ दिए गए सभी शेयर लम्बी अवधि के लिए बढ़िया शेयर हैं।

bhavishy me badhane wale share

[1] टाटा मोटर्स – Tata Motors

टाटा मोटर्स देश की सबसे बड़ी और लीडिंग ऑटोमोबाइल कंपनी हैं। टाटा मोटर्स का ग्लोबल नेटवर्क काफ़ी बड़ा हैं।

इस कंपनी ने इलेक्ट्रिक व्हीकल सेगमेंट में बहुत ही बेहतरीन तरीके से काम किया हैं। डोमेस्टिक मार्केट में कंपनी अधिक से अधिक मार्केट शेयर कैप्चर करने का प्रयास कर रही हैं और इसके लिए निरंतर प्रयासरत हैं।

कुछ समय पहले टाटा मोटर्स ने अपने 10,000 वें इलेक्ट्रिक ग्राहक को ऑनबोर्ड किया हैं। इसका मतलब हैं की कंपनी ने EV सेगमेंट की भारी सम्भावनाओं को देखते हुए उसके अनुसार कार्य करना शुरू कर दिया हैं। टाटा मोटर्स कार, ट्रक, बस, वैन, हैवी कार को produce करती हैं।

टाटा मोटर्स का मार्केट कैपिटलाइजेशन ₹ 1,43,430.20 Cr. से अधिक हैं। इस कंपनी का एक शेयर आपको ₹500 से कम में मिल जायेगा।

कंपनी ने पिछले वर्ष अपने नुकसान (loss) का काफी कम किया हैं जो कंपनी के पटरी पर आने के संकेत हैं।

Positives :

  • कंपनी के प्रमोटर्स ने पिछले 2 वर्ष में अपनी हिस्सेदारी लगभग 5% से बढ़ाई हैं जिससे प्रमोटर होल्डिंग 46.41% तक पहुंच गई हैं। इसका अर्थ हुआ की कंपनी के प्रमोटर कंपनी के भविष्य को लेकर आशान्वित हैं।
  • कंपनी के पास इलेक्ट्रिक व्हीकल के उत्पादन के लिए एक मजबूत इंफ्रास्ट्रक्चर हैं।

Negatives :

  • टाटा मोटर्स के ऊपर लगभग ₹ 21,748.72 Cr. का कर्जा हैं। लेकिन कंपनी के मैनेजमेंट अगले तीन वर्ष में डेब्ट फ्री होने को लेकर आश्वस्त हैं।
  • कंपनी की वित्तीय हालत बहुत कमज़ोर हैं।

पिछले कुछ वर्षों में टाटा मोटर्स मंदी के दौर से गुजरा हैं। इस वजह से कंपनी का शेयर प्राइस मार्च 2020 में मात्र ₹63 चला गया था। परन्तु इलेक्ट्रिक सेक्टर की दौड़ में सबसे आगे होने के कारण निवेशकों के लिए टाटा मोटर्स आगामी कुछ वर्षों में एक अच्छी बेट साबित हो सकता हैं।

जिस प्रकार टाटा मोटर्स ने अपना revival दिखाया हैं, आने वाले समय में ये स्टॉक एक मल्टीबेगर साबित हो सकता हैं।

ये भी पढ़ें:

[2] IEX – Indian Energy Exchange

इंडियन एनर्जी एक्सचेंज लिमिटेड (IEX) भारत में पहला और सबसे बड़ा पावर ट्रेडिंग एक्सचेंज है। कंपनी ने 27 जून 2008 को अपना परिचालन शुरू किया था।

IEX की पावर ट्रेडिंग बिज़नेस में 95% से अधिक की बाजार हिस्सेदारी है। कंपनी का मुख्यालय नई दिल्ली, भारत में स्थित है। श्री सत्यनारायण गोयल कंपनी के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर हैं।

IEX भारत का प्रमुख ऊर्जा बाज़ार है, जो बिजली, रिन्यूएबल एनर्जी और सर्टिफिकेट वितरण के लिए एक राष्ट्रव्यापी स्वचालित व्यापार मंच प्रदान करता है।

इस कंपनी की फाइनेंसियल स्थिति बहुत ही अच्छी हैं। साथ ही कंपनी एक virtually डेब्ट फ्री कंपनी भी हैं। कंपनी वर्ष दर वर्ष लगातार अपने प्रॉफिट को बढ़ा रही हैं और अपने निवेशकों को अच्छा रिटर्न बना कर दे रही हैं।

IEX का शेयर प्राइस वर्तमान में ₹180 के आस-पास चल रहा हैं। इस कंपनी का मार्केट कैपिटलाइजेशन ₹16,000 करोड़ के करीब हैं।

Positives :

  • कंपनी पॉवर ट्रेडिंग में मार्केट लीडर हैं।
  • अनुभवी और सक्षम मैनेजमेंट।

Negatives :

  • मॉडरेट सेल्स ग्रोथ।
  • इंडियन एनर्जी एक्सचेंज एक हाई रेगुलेटेड मार्केट में काम कर रहा है। सरकारी नीतियों में कोई बड़ा बदलाव कंपनी को परेशानी में डाल सकता है।

कुल एनर्जी का मात्र 6% अभी ट्रेड होता हैं। अगर आने वाले समय में ये बढ़ता हैं तो IEX को इसका सबसे अधिक फायदा  होगा। इस वजह से आने वाले समय में ये स्टॉक सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाले शेयर में शामिल हो सकता हैं।

[3] हैप्पीएस्ट माइंडस – Happiest Minds

आईटी सेक्टर हर निवेशक के पसंदीदा सेक्टर में से एक है, हैप्पीएस्ट माइंड्स कंपनी भी उनमें से एक है।

हैप्पीएस्ट माइंड्स 2011 में इनकॉरपोरेट हुई थी। इस कंपनी का मुख्यालय बेंगलुरु में स्थित है। इस कंपनी का गठन श्री अशोक सूटा ने किया था जो की IT सेक्टर में जानी-मानी हस्ती हैं।

Happiest Minds के व्यवसाय की बात करें तो इसे तीन भागों में बांटा जा सकता है-

  1. Product Engineering Services
  2. Infrastructure Management Services
  3. Digital business services

Happiest Minds के एक शेयर की कीमत वर्तमान में लगभग ₹920 के आस-पास में चल रहा हैं। इस कंपनी का मार्केट कैपिटलाइजेशन लगभग ₹13,520 करोड़ हैं।

यह कंपनी अपनी कुल रेवेन्यू का लगभग 96% डिजिटल सर्विसेज से प्राप्त करती है, जबकि अन्य भारतीय आईटी कंपनियां मात्र 40% -50%. यह इस कंपनी को अपने प्रतिद्वंद्वियों के मुकाबले थोड़ा एज देता है।

Positives :

  • अनुभवी और स्ट्रांग मैनेजमेंट बैकग्राउंड।
  • पिछले तीन वर्षों में कंपनी का 55.74% का शानदार ROE ट्रैक रिकॉर्ड है।
  • कंपनी ने पिछले तीन वर्षों में 143.18% का प्रॉफिट ग्रोथ दिखाया है जो बहुत प्रभावशाली है।
  • कंपनी लगातार अपने EPS को बढ़ा रही हैं।

Negatives :

  • कंपनी का लगभग 74% व्यापार अमेरिका से आता है और केवल 12% भारत से।
  • हैप्पीएस्ट माइंड्स को अन्य IT प्लेयर्स से कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ता है।

हैप्पीएस्ट माइंड्स फ़ण्डामेंटली बहुत ही मजबूत कंपनी हैं। कई ट्रेड पंडितों ने इसे भविष्य में बढ़ने वाले शेयर 2030 की सूची में भी रखा हैं।

[4] CDSL

CDSL की फुल फॉर्म हैं Central Depository Services (India) Ltd. भारतीय स्टॉक मार्केट में मुख्यतः दो depositaries हैं एक NSDL और दूसरी CDSL.

आसान भाषा में समझे तो CDSL स्टॉक एक्सचेंज और स्टॉक ब्रोकर के बीच एक मध्यस्थ का काम करता हैं। ये CDSL से अनुबंधित डीमैट एकाउंट्स में रखे शेयर्स को मेन्टेन करता हैं।

CDSL Ltd, BSE के द्वारा प्रमोटेड हैं जो की 1999 में स्थापित हुई थी। डीमैट अकाउंट के मामले में लगभग 70% शेयर अकेले CDSL के पास हैं बाकि 30% NSDL के पास।

CDSL ग्राहकों द्वारा अपने डीमैट खाते में किए गए लेनदेन के लिए शुल्क चार्ज करता है। ये शुल्क डीपी (स्टॉक ब्रोकर) द्वारा लगाए जाते हैं और CDSL को दिए जाते हैं।

रेवेन्यू सोर्सेज:

  • Annual Maintenance Charges ( 34% )
  • Transaction Charges ( 19% )
  • KYC Service ( 16% )
  • IPO & Corporate Actions ( 10% )
  • Maintenance शुल्क, ई-वोटिंग शुल्क, ECS शुल्क और अन्य परिचालन आय।

CDSL के बहुत सारे बिज़नेस सेगमेंट हैं जिससे वो रेवेन्यू जेनेरेट करता हैं –

CDSL Ventures Ltd: ये CDSL की एक Subsidiary कंपनी हैं जो की एक KYC रजिस्ट्रेशन एजेंसी के रूप में कार्य करती हैं।

CDSL Insurance Repository Ltd (CIRL): इस कंपनी में CDSL की 51.25% की भागीदारी हैं। CIRL पॉलिसी धारकों को अपनी बीमा पॉलिसियों को इलेक्ट्रॉनिक रूप में रखने और परिवर्तन, संशोधन करने की सुविधा प्रदान करता है।

CDSL Commodity Repository Ltd (CCRL): ये डेरीवेटिव कमॉडिटी एक्सचेंज के रूप में कार्य करता हैं।

CDSL IFSC Ltd: यह विदेशी प्रतिभूतियों, बुलियन, डिपॉजिटरी के लेन-देन करने में सुविधा प्रदान करता है।

इस कंपनी का शेयर अभी के समय ₹1150-₹1200 की रेंज में ट्रेड हो रहा हैं। इस कंपनी का मार्केट कैपिटलाइजेशन ₹12,000 के करीब हैं।

Positives:

  • अंतिम 3 वर्षों में कंपनी की रेवेन्यू 21.25% की CAGR से बढ़ी हैं।
  • कंपनी ने बहुत ही बढ़िया ROE और RoCE मेन्टेन किया हैं।

Negatives:

  • प्रमोटर होल्डिंग मात्र 20%.
  • स्टॉक मार्केट में स्लो डाउन से कंपनी की रेवेन्यू पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता हैं।

दोस्तों, CDSL एक काफी बेहतरीन कंपनी हैं जिसका बिज़नेस सीधा शेयर मार्केट से ही जुड़ा हैं। भारत में अभी डीमैट अकाउंट पेनेट्रेशन काफी कम हैं जो की आने वाले समय में काफी तेजी से बढ़ने वाला हैं। अगर भारत में आने वाले समय में स्टॉक मार्केट अच्छा प्रदर्शन करता हैं तो इसमें कोई दो राय नहीं हैं की CDSL भी नई ऊंचाइयां छुएगा।

[5] HDFC Life

HDFC Life इंश्योरेंस सेक्टर की एक कंपनी हैं जो की सन 2000 में स्थापित हुई थी। इस कंपनी का हेडक्वार्टर मुंबई में स्थित हैं। HDFC Life की CEO और मैनेजिंग डायरेक्टर विभा पडलकर हैं।

ये इंश्योरेंस कंपनी HDFC और स्टैंडर्ड लाइफ एबरडीन के बीच का एक जॉइंट वेंचर हैं। HDFC Life भारत की अग्रणी जीवन बीमा कंपनियों में से एक है। यह कंपनी टर्म इंश्योरेंस प्लान, वूमेन प्लान, हेल्थ इंश्योरेंस प्लान, रिटायरमेंट प्लानिंग के लिए पेंशन प्लान, चाइल्ड एजुकेशन प्लान, यूलिप, सेविंग और इनवेस्टमेंट प्लान जैसी जीवन बीमा योजनाओं की एक बड़ी रेंज पेश करती है।

HDFC Life एक मल्टी चैनल नेटवर्क के माध्यम से अपनी पॉलिसी बेचता है। इस प्रकार HDFC Life का प्रोडक्ट पोर्टफोलियो काफी बड़ा हैं।

इंश्योरेंस इंडस्ट्री भारत में अभी शुरुवाती दौर में हैं और पढ़े-लिखे लोग अब प्राइवेट इंश्योरेंस कंपनियों के साथ भी जाने लगे हैं। इस कड़ी में HDFC Life एक मार्केट लीडर के रूप में इसका सर्वाधिक फायदा उठा सकता हैं।

इस कंपनी का स्टॉक प्राइस वर्तमान में ₹600 की रेंज में चल रहा हैं। HDFC Life एक लार्ज कैप कंपनी हैं जिसका मार्केट ₹ 1,28,073.39 Cr. हैं।

Positives:

  • बैलेंस्ड पोर्टफोलियो मिक्स के साथ स्थापित मार्केट पोजीशन।
  • डाइवर्सिफाइड डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क।
  • बेहतरीन फाइनेंसियल कंडीशन।

Negatives:

  • अपने प्रतिद्वंद्वियों की तुलना में हाई ऑपरेटिंग कॉस्ट।
  • HDFC Bank के साथ पार्टनरशिप नहीं होने का नुकसान।

HDFC Life एक रेपुटेड ब्रांड हैं जो की आने वाले समय में सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाले शेयर की लिस्ट में सबसे ऊपर रह सकता हैं।

[6] टाटा पॉवर – Tata Power

भविष्य में बढ़ने वाले शेयर 2030 में टाटा पावर का नाम जरूर होगा। Tata Power, टाटा ग्रुप की एक पॉवर कंपनी हैं। ये कंपनी एक इंटीग्रेटेड पावर कंपनी हैं जो की पावर जनरेशन, ट्रांसमिशन, पावर ट्रेडिंग बिज़नेस में काम कर रही हैं। ये पॉवर कंपनी 1919 में स्थापित हुई थी।

ये कंपनी इलेक्ट्रिक व्हीकल के सेक्टर में आपकी चॉइस हो सकती हैं। रणनीति के तहत टाटा मोटर्स इलेक्ट्रिक व्हीकल बेचेगा जबकि टाटा पॉवर इन व्हीकल्स की चार्जिंग के लिए इंफ्रास्ट्रकचर तैयार करेगा। टाटा पॉवर रिन्यूएबल एनर्जी के बिज़नेस में है जो EV चार्जिंग स्टेशन को बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

कंपनी ने अगस्त 2017 में ही अपना पहला पब्लिक चार्जिंग स्टेशन लांच कर दिया था। वर्तमान में कंपनी के पास में 92 अलग-अलग शहरों में 600 से ज्यादा चार्जिंग स्टेशन हैं। कंपनी ने चार्जिंग स्टेशन को ढूंढने के लिए एक मोबाइल एप्प भी लांच किया हैं।

इसके लिए टाटा पॉवर का मैनेजमेंट अग्रेसिव तरीक़े से चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने पर काम भी कर रहा हैं। वर्तमान में देश में जितने भी चार्जिंग स्टेशन हैं उसका लगभग 53% हिस्सा टाटा पॉवर के पास हैं।

टाटा पॉवर सभी प्रकार के सेगमेंट में चार्जिंग accessories के लिए काम कर रही हैं जैसे –

  • EV पब्लिक चार्जिंग
  • Captive Charging
  • होम चार्जिंग
  • वर्कप्लेस चार्जिंग

Positives :

  • पिछले दो वर्ष में कंपनी की प्रमोटर होल्डिंग 33% से बढ़कर 46.86% तक पहुंच गई हैं।
  • आने वाले समय में चार्जिंग स्टेशन का अधिकांश मार्किट शेयर कैप्चर करने की उम्मीद।
  • फ़ण्डामेंटली स्ट्रांग कंपनी।

Negatives :

  • कंपनी के ऊपर ₹ 15,189.05 Cr. की कंटिंजेंट लायबिलिटी हैं।
  • साथ ही टाटा पॉवर ₹ 20,551.76 Cr. के कर्ज के बोझ तले दबा हैं।

टाटा पॉवर के एक शेयर की कीमत वर्तमान में ₹230 की रेंज में चल रही हैं। कंपनी का मार्केट कैप ₹74,000 से भी अधिक हैं।

ये भी पढ़ें:

[7] HDFC AMC

HDFC AMC एक एसेट मैनेजमेंट कंपनी हैं। ये कंपनी 1999 में स्थापित हुई थी जो की HDFC और स्टैण्डर्ड लाइफ इन्वेस्टमेंट लिमटेड का एक जॉइंट वेंचर हैं।

ये कंपनी म्यूच्यूअल फण्ड हाउस के रूप में कार्य करती हैं। HDFC AMC का 2021 के अनुसार AUM ₹441,352 हैं जो की इस केटेगरी में इसे तीसरी सबसे बड़ी कंपनी बनाता हैं।

इसमें कोई दो राय नहीं हैं की आने वाला समय Mutual Funds का हैं और इसका फायदा निश्चित तौर पर ये कंपनी उठाएगी। क्योंकि अभी के समय बस कुछ गिने-चुने लोग ही म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करते हैं।

Products of the company

  • Diversified Equity
  • Thematic Equity
  • Equity Linked Savings Scheme (ELSS)
  • Hybrid
  • Solution Oriented
  • Theme Based Debt
  • Duration Based Debt
  • Index/ETF
  • Gold ETF/FOF

Postives:

  • अंतिम तीन वर्ष का औसत ROE 33.63% और RoCE 46.13%.
  • प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 68.81% है।

Negatives:

  • लास्ट तीन वर्षों में कंपनी की प्रॉफिट ग्रोथ सामान्य रही हैं।
  • पिछले कुछ समय में कंपनी ने अपना मार्केट शेयर गवाया हैं जिसकी वजह से HDFC AMC की रैंक दूसरे स्थान से तीसरे स्थान पर पहुंच गई हैं।

लेकिन आज के समय पर ये शेयर आपको अच्छे वैल्यूएशन पर मिल रहा हैं जो की भविष्य में बढ़ने वाले शेयर 2030 की सूची में अपना स्थान पुख्ता करता हैं।

HDFC एसेट मैनेजमेंट कंपनी का शेयर आपको ₹1800 की रेंज में मिल जायेगा जिसका मार्किट कैप ₹ 39,631.18 Cr. हैं।

[8] IRCTC

भविष्य में बढ़ने वाले शेयर की सूची में अगला शेयर IRCTC हैं। IRTCT 27 सितम्बर 1999 को स्थापित हुई थी जिसका हेडक्वार्टर दिल्ली में स्थित हैं। 

IRCTC सरकार की एकमात्र authorised कंपनी हैं जो की भारतीय रेलवे के टिकट इशू करती हैं। साथ ही ये ट्रेनों में फूड कैटरिंग सर्विस भी ऑफर करती हैं। 

IRCTC की सर्विसेज:

  • ऑनलाइन रेलवे टिकट प्लेटफार्म
  • फ़ूड कैटरिंग सर्विस 
  • बजट होटल और लाउन्ज
  • ड्रिंकिंग वाटर 
  • टूरिसम और ट्रेवल  

ये कंपनी 67% इक्विटी होल्डिंग के साथ भारत सरकार यानि की मिनिस्ट्री ऑफ़ रेलवे के अधीन काम करती हैं। 

Positives:

  • अंतिम तीन वर्ष का औसत ROE 29.10% और RoCE 43.02% हैं जो की शानदार हैं। 
  • प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 67% की है।
  • डेब्ट फ्री कंपनी। 
  • मोनोपॉली बिज़नेस। 

Negatives:

  • अंतिम तीन वर्ष में नेगेटिव प्रॉफिट ग्रोथ। 
  • सरकार की नीतियों का दखल। 

IRCTC एक फ़ण्डामेंटली स्ट्रांग बिज़नेस मॉडल हैं। साथ ही ये मोनोपॉली बिज़नेस भी करता हैं। लेकिन IRCTC का भविष्य सरकार की नीतियों पर भी निर्भर करता हैं। इसलिए आपको हमेशा ऐसी न्यूज़ के बारें में अलर्ट रहना चाहिए। 

भविष्य में बढ़ने वाले शेयर २०२२ में IRCTC आपको फ्यूचर में अच्छे रिटर्न्स बना कर दे सकता हैं। 

[9] ITC

भविष्य में बढ़ने वाले शेयर 2022 की सूची में ये हमारा अंतिम शेयर हैं। ITC ने पिछले एक वर्ष में अपने निवेशकों को बहुत ही बढ़िया रिटर्न बनाकर दिए हैं। साथ में ये स्टॉक बहुत अच्छा डिविडेंड भी देता हैं। वर्तमान में मिस्टर संजीव पुरी इस कंपनी के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर हैं।  

ITC सन 1910 में इम्पीरियल टोबैको कंपनी के नाम से स्थापित हुई थी। ये कंपनी तम्बाकू/सिगरेट और FMCG सेक्टर में कार्य करती हैं। हालांकि इनके अलावा भी कंपनी अनेक सेक्टर्स में कार्यरत हैं। 

आईटीसी के बिज़नेस सेक्टर्स:

  • सिगरेट
  • होटल
  • पेपरबोर्ड और विशेष कागजात
  • पैकेजिंग
  • कृषि व्यवसाय
  • पैकेज्ड खाद्य पदार्थ और कन्फेक्शनरी
  • सूचना प्रौद्योगिकी
  • ब्रांडेड परिधान
  • पर्सनल केयर
  • स्टेशनरी
  • अन्य FMCG प्रोडक्ट्स

Positives:

  • स्ट्रांग बिज़नेस मॉडल। 
  • सिगरेट में लगभग मोनोपॉली बिज़नेस।  
  • Cash Rich कंपनी। 
  • अंतिम पांच वर्षों का ROE 24.17% और RoCE 32.29% हैं। 
  • हाई डिविडेंड यील्ड। 

Negatives: 

  • प्रॉफिट ग्रोथ में सुधार की गुंजाइश। 

ITC कंपनी की अधिकांश रेवेन्यू सिगरेट बिज़नेस से आती हैं। साथ में FMCG और होटल बिज़नेस में भी कंपनी अपना व्यापार काफी तेजी से बढ़ा रही हैं। 

यदि आने वाले समय में इसके बिज़नेस अलग-अलग यानि की डीमर्जर होता हैं तो ये स्टॉक अपने निवेशकों के लिए अच्छी वैल्यू अनलॉक कर सकता हैं।  

भविष्य में बढ़ने वाले शेयर 2030 | भविष्य में बढ़ने वाले शेयर

1. Tata Motors
2. IEX
3. Happiest Minds
4. CDSL
5. HDFC Life
6. Tata Power
7. HDFC AMC
8. IRCTC
9. ITC

भविष्य में बढ़ने वाले शेयर 2022 – निष्कर्ष

दोस्तों, शेयर मार्केट से पैसा कमाना बहुत आसान है बशर्ते आप अच्छे क्वालिटी स्टॉक खरीदकर उनमें लॉन्ग टर्म के लिए इन्वेस्टेड रहें। लेकिन अधिकतर निवेशक जस्ट इसका विपरीत करते हैं। वे ट्रेडिंग के उद्देश्य से शेयर खरीदे हैं और उनका एक ही लक्ष्य रहता है कि वह कम समय में ही अच्छा प्रॉफिट कमा ले।

लेकिन शेयर मार्केट में ऐसा होना काफी मुश्किल है। इसलिए जब भी स्टॉक मार्केट में कोई गिरावट हो तब आप अच्छे फ़ण्डामेंटली स्ट्रांग कंपनियों के शेयर सस्ते में खरीद सकते हैं और उनमें लंबे समय के लिए निवेशित रहने का प्रयास करें।

इससे आपको काफी अच्छे रिटर्ंस मिलेंगे और आपकी कंपाउंडिंग भी अच्छी होगी।

दोस्तों, भविष्य में बढ़ने वाले शेयर के ऊपर यह जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो आप इस आर्टिकल को सोशल मीडिया नेटवर्क्स पर शेयर कर सकते हैं और अगर आपके कोई सवाल या सुझाव है तो आप मुझे कमेंट बॉक्स के माध्यम से बता सकते हैं।

FAQ

  1. सबसे अच्छा शेयर किसका है?

    HDFC Bank, Pidilite Industries, HUL, CDSL, CAMS जैसे शेयर्स ने लगातार अच्छे रिटर्न बना कर दिए हैं और आगे इनसे आगे भी ऐसी ही उम्मीद हैं।

  2. कौनसे शेयर खरीदना चाहिए?

    ऐसा शेयर जो लगातार अपने प्रॉफिट को बढ़ा रहा हो, उसका ROE 10% से ऊपर हो, सेल्स में लगातार वृद्धि हो और उसकी एक ब्रांड वैल्यू हो।

  3. शेयर मार्केट हफ्ते में कितने दिन खुलता है?

    शेयर मार्केट हफ्ते में 5 दिन खुलता हैं सोमवार से शुक्रवार। नेशनल हॉलिडे को अवकाश रहता हैं।

  4. भविष्य के हिसाब से कौनसे सेक्टर में निवेश करना सही रहेगा?

    FMCG, आईटी सेक्टर, इलेक्ट्रिक व्हीकल सेक्टर, आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस और इंश्योरेंस सेक्टर अच्छी बेट साबित हो सकते हैं।

Leave a Reply

Punji Guide